Twitter ने गलती स्वीकार की, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का अकाउंट दोबारा वेरिफाइड किया

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  



<p style="text-align: justify;"><strong>नई दिल्ली:</strong> सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए भारत के उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू का अकाउंट दोबारा वेरिफाइड कर दिया है. सरकार की नाराजगी के बाद ट्विटर ने ये कदम उठाया है. सरकार की ओर से साफ तौर पर कहा गया था कि उपराष्ट्रपति देश का दूसरा सबसे बड़ा संवैधानिक पद है. संविधानिक पद पर बैठे व्यक्ति किसी पार्टी का हिस्सा नहीं होते. इसलिए सरकार ट्विटर की इस हरकत को संवैधानिक अनादर की नजर से देखती है.</p>
<p style="text-align: justify;">इसके बाद ट्विटर ने अपनी स्वीकार की और उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू के ट्विटर अकाउंट को दोबारा वेरिफाइड कर दिया. अब से कुछ देर पहले ट्विटर ने उपराष्ट्रपति का अकाउंट अनवेरिफाइड कर दिया था. सरकार के कड़े रूख के बाद ट्विटर ने अपना फैसला वापस ले लिया.</p>
<p style="text-align: justify;">उपराष्ट्रपति के निजी ट्विटर हैंडल से ब्लू टिक हटाने पर ट्विटर के प्रवक्ता ने कहा, "जुलाई 2020 से अकाउंट इनएक्टिवेट है. हमारी सत्यापन नीति के अनुसार अगर अकाउंट इनएक्टिवेट हो जाता है तो ट्विटर ब्लू टिक और वेरिफाइड स्टेटस हटा सकता है." वहीं बीजेपी नेता सुरेश नाखुआ ने सवाल उठाया था, ‘ट्विटर ने उपराष्ट्रपति के अकाउंट से ब्लू टिक क्यों हटाया? यह भारत के संविधान पर हमला है.’ बता दें, आरएसएस के कई नेताओं कुष्ण कुमार, अरुण कुमार के साथ भैयाजी जोशी, सुरेश सोनी के ट्विटर अकाउंट भी अनवेरिफाइड कर दिए गए हैं. इन पर भी आपत्ति जताई गई थी.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>ये भी पढ़ें-</strong></p>
<div><strong><a href="https://www.abplive.com/news/india/india-coronavirus-cases-today-5-june-2021-new-cases-deaths-corona-second-wave-update-1923083">Corona Update: 6 अप्रैल के बाद आज सबसे कम कोरोना केस आए, देश में 24 घंटे में 3380 संक्रमितों की मौत</a></strong></div>
<div>&nbsp;</div>
<div><strong><a href="https://www.abplive.com/news/india/jammu-militant-hideout-busted-in-thanamandi-area-of-rajouri-1923100">जम्मू-कश्मीर के राजौरी में आंतकी ठिकाने का भंडाफोड़, हथियारों का जखीरा बरामद</a></strong></div>
<div class="pfnyh3mw ewlkfwdl bp9cbjyn j83agx80 qnrpqo6b">
<div class="">
<div class="lzcic4wl" tabindex="0" role="gridcell" data-scope="messages_table">
<div class="oajrlxb2 gs1a9yip g5ia77u1 mtkw9kbi tlpljxtp qensuy8j ppp5ayq2 goun2846 ccm00jje s44p3ltw mk2mc5f4 rt8b4zig n8ej3o3l agehan2d sk4xxmp2 rq0escxv nhd2j8a9 j83agx80 mg4g778l btwxx1t3 pfnyh3mw p7hjln8o kvgmc6g5 ozy5gqb7 oygrvhab hcukyx3x tgvbjcpo hpfvmrgz jb3vyjys rz4wbd8a qt6c0cv9 a8nywdso l9j0dhe7 i1ao9s8h esuyzwwr f1sip0of du4w35lb lzcic4wl abiwlrkh p8dawk7l mkd47r93 rgmg9uty" tabindex="-1" role="button" aria-expanded="false" aria-haspopup="menu" aria-label="Message actions">
<div class="n00je7tq arfg74bv qs9ysxi8 k77z8yql i09qtzwb n7fi1qx3 b5wmifdl hzruof5a pmk7jnqg j9ispegn kr520xx4 c5ndavph art1omkt ot9fgl3s" data-visualcompletion="ignore">&nbsp;</div>
</div>
</div>
</div>
</div>



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *