Oxygen Crisis: कर्नाटक में ऑक्सीजन की कमी से 24 मरीजों की मौत, सरकार ने किया इनकार

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


बेंगलुरु. देशभर में कोरोना वायरस (Coronavirus) से हाहाकार मचा है. मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा. इस बीच खबर है कि कर्नाटक के चामराजनगर में ऑक्सीजन की कमी के चलते 24 से ज्यादा कोरोना मरीजों की मौत हो गई है. कहा जा रहा है कि जिन मरीजों का कोरोना से इलाज चल रहा था वो सारे वेंटिलेटर पर थे. ये दूसरा मौका है जब कर्नाटक में ऑक्सीजन की कमी (Oxygen Crisis) से मरीजों की मौत हुई है. इससे पहले शनिवार को भी राज्य 12 मरीजों की जान गई थी. हालांकि सरकार ने ऑक्सीजन की कमी की बात से इनकार किया है. चामराजनगर जिला अस्पताल में मातम पसरा हुआ है जहां खबर सुनने के बाद मृतकों के परिजन रोते-बिलखते नजर आए. मृतकों के परिवारों ने अस्पताल में प्रदर्शन भी किया और आरोप लगाया कि यहां ऑक्सीजन की कमी थी और वहां नारेबाजी की.  चामराजनगर जिला प्रभारी मंत्री एस सुरेश कुमार ने कहा कि उन्होंने घटना में जिला प्रशासन से मौत की ऑडिट रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है. वह इस बात पर कायम रहे कि सभी मौतें ऑक्सीजन की कमी की वजह से नहीं हुई हैं. अस्पताल में अफरा-तफरी कुमार ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘यह कहना सही नहीं होगा कि सभी 24 मौत ऑक्सीजन की कमी की वजह से हुई हैं. ये मौतें रविवार सुबह से आज सुबह तक हुई हैं. ऑक्सीजन की कमी रविवार देर रात 12:30 बजे से 2:30 के बीच हुई थी.’ मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने भी जिला के उपायुक्त से घटना के बारे में सूचना प्राप्त की है. सुरेश कुमार ने कहा कि मौत की ऑडिट रिपोर्ट से पता चलेगा कि ये मरीज किस बीमारी से ग्रस्त थे, उन्हें कोई और गंभीर बीमारियां थी और उन्हें किसी स्थिति में अस्पताल लाया गया था.  उन्होंने कहा, ‘जितने भी लोगों की मौत हुई है जरूरी नहीं कि सभी की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण हुई हो. उन्होंने कहा कि 6,000 लीटर तरल चिकित्सीय ऑक्सीजन थी लेकिन ऑक्सीजन सिलेंडरों की जरूरत थी.मैसुरु से आने थे सिलेंडर कुमार ने कहा, ‘ये सिलेंडर मैसुरु से आने वाले थे लेकिन कुछ समस्या हो गई.’ उन्होंने कहा कि यह स्थिति राज्य के मुख्य सचिव, मुख्यमंत्री के निजी सचिव और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक प्रताप रेड्डी को भी समझाई जो राज्य में ऑक्सीजन आपूर्ति के प्रभारी हैं. कुमार ने कहा, ‘मैंने अधिकारियों को चामराजनगर जिले में ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए स्थायी समाधान खोजने को भी कहा है. मैसुरू में जरूर ही समस्या है लेकिन मैसुरु से चामराजनगर और मांड्या में ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए. मरीजों की मौत पर दुख व्यक्त करते हुए, मंत्री ने कहा कि वह स्थिति का जायजा लेने के लिए चामराजनगर जाएंगे. लगातार हो रही है मौत
कर्नाटक में कालाबुर्गी के KBN अस्पताल में शनिवार को ऑक्सीजन की कमी के चलते 4 मरीजों की मौत हो गई थी. इसके अलावा बिजली कट जाने के चलते यादगीर के एक सरकारी अस्पताल में भी कोरोना के मरीज़ ने दम तोड़ दिया था. बता दें कि पिछले हफ्ते दिल्ली समते कई बड़े शहरों में ऑक्सीजन की कमी के चलते कोरोना के मरीजों की मौत हो गई थी. दिल्ली और आंध्र में भी मौत पिछले दिनों दिल्ली के बतरा हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की कमी के चलते 8 मरीजों की जान चली गई थी. इसके अलावा आंध्र प्रदेश के एक सरकारी अस्‍पताल में शनिवार को 14 कोरोना मरीजों की मौत से हड़कंप मच गया था. बता दें कि केंद्र से लेकर राज्य सरकारें लगातार दावे कर रही है कि देश में ऑक्सीजन की कमी नहीं है. इसके बावजूद लोगों की जानें जा रही हैं. ऑक्सीजन की कमी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने भी चिंता जताई है.

कर्नाटक में बिगड़ रहे हैं हालात कर्नाटक में रविवार को कोविड-19 के 37733 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या 16 लाख के पार पहुंच गई जबकि 217 और मरीजों की मौत के बाद महामारी से प्रदेश में जान गंवाने वालों की संख्या 16,011 हो गई. राज्य में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 16,01,865 हो गई है जबकि उपचाराधीन मरीजों की संख्या 4,21,436 है. राज्य में रविवार को 21,149 मरीजों को संक्रमण मुक्त होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई जिसके बाद महामारी से राज्य में ठीक हो चुके लोगों की संख्या 11,64,398 हो गई है. (भाषा इनपुट के साथ)





Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *