MP के नरसिंहपुर में लावारिस हालत में मिला 2.4 लाख कोवैक्सीन से भरा ट्रक, चालक लापता

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


नरसिंहपुर पुलिस के मुताबिक कोवैक्सीन की खेप लेकर यह ट्रक हैदराबाद से हरियाणा के करनाल जा रही थी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लावारिस हालत में खड़े ट्रक का इंजन स्टार्ट था और उसका ड्राइवर लापता था. इंजन चालू रहने से ट्रक का रेफ्रिजेरेटर काम कर रहा था जिससे पुलिस यह उम्मीद जता रही है कि ट्रक के कंटेनर में रखीं ‘कोवैक्सीन’ (Co-Vaccine) की 2.40 लाख खुराक सुरक्षित होगी

नरसिंहपुर. देश में जहां मौजूदा हालात में कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की कमी हो रही है वहीं मध्य प्रदेश में नरसिंहपुर (Narsinghpur) जिले में 2.4 लाख कोवैक्सीन (Covaccine) से लदे एक ट्रक को सड़क किनारे लावारिस हालत में खड़ा पाया गया है. ट्रक में लदे कोवैक्सीन का मूल्य आठ करोड़ रुपये है. इस ट्रक का इंजन स्टार्ट था और ड्राइवर लापता था. इंजन चालू रहने से ट्रक का रेफ्रिजेरेटर काम कर रहा था जिससे यह उम्मीद जताई जा रही है कि ट्रक के कंटेनर में रखीं ‘कोवैक्सीन’ की 2.40 लाख खुराक सुरक्षित होंगी. बताया जा रहा है कि ‘कोवैक्सीन’ से लदा यह ट्रक हैदराबाद से हरियाणा के करनाल भेजा जा रहा था. नरसिंहपुर जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) विपुल श्रीवास्तव ने शनिवार को बताया कि इस वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर टीएन 06 क्यू 6482 है और शुक्रवार रात करीब 12 घंटे खड़ी रहने के बाद इसे इसके गंतव्य स्थान करनाल के लिए यहां से रवाना करवा दिया गया. उन्होंने कहा कि ‘कोवैक्सीन’ टीके की यह खुराक हैदराबाद से लाई गई थी. उन्होंने बताया कि शुक्रवार दोपहर पुलिस को यह सूचना मिली कि नरसिंहपुर जिला मुख्यालय से करीब 16 किलोमीटर दूर करेली बस अड्डे के पास एक लॉरी खड़ी है जिसका इंजन चालू है और इसपर भारत बायोटेक कंपनी लिखा है. ड्राइवर की व्यवस्था कर ट्रक को करनाला के लिए रवाना किया गया श्रीवास्तव ने कहा, ‘हमने गुरुग्राम की ट्रांसपोर्ट कंपनी टीसीआई से संपर्क किया और उन्हें चालक रहित लॉरी के बारे में जानकारी दी. कंपनी ने जीपीएस सिस्टम के जरिये इसे करेली में खड़ा पाया और जब वो इसके ड्राइवर से संपर्क नहीं कर पाए तो वो भी चिंतित हो गए.’ उन्होंने बताया कि इसके बाद इस कंपनी ने एक चालक का बंदोबस्त किया और यह लॉरी शुक्रवार की रात आठ बजे करनाल के लिए रवाना हो गई. उन्होंने कहा कि इस लॉरी का ड्राइवर विकास मिश्रा अब भी लापता है. हमें उसका मोबाइल फोन मौके से 16 किलोमीटर दूर एक जगह पर मिला है. एसपी ने कहा कि लॉरी का इंजन चालू होने के कारण इसका रेफ्रिजरेटर काम कर रहा था इसलिए मुझे उम्मीद है कि इसमें रखे वैक्सीन सुरक्षित होंगे. यह पूछे जाने पर कि क्या इस ट्रक के चालक को लूटा गया होगा, उन्होंने कहा, ‘पारिस्थितिजन्य साक्ष्य (सबूत) बताते हैं कि इस वाहन चालक को लूटा नहीं गया होगा. यदि लूटा गया होता तो अब तक वाहन चालक मिल गया होता. हो सकता है कि वो अपने परिवार में चल रही अनबन के कारण गायब हो गया हो. लापता ट्रक ड्राइवर उत्तर प्रदेश के अमेठी का रहने वाला है और उसकी उम्र 22 से 25 वर्ष के बीच होने की संभावना जताई जा रही है. उसे ढूंढने के प्रयास जारी हैं. (भाषा से इनपुट)









Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *