MP की ये जेल कोरोना से सुरक्षित, यहां सारे बंदियों और स्टाफ ने लगवाया वैक्सीन

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


जबलपुर सेंट्रल जेल में इस समय तीन हज़ार बंदी हैं.

Jabalpur- मध्यप्रदेश में नेताजी सुभाष चंद्र बोस सेंट्रल जेल पहली ऐसी जगह बन चुकी है जहां 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन हो गया है.

जबलपुर. कोरोना संक्रमण (Corona) से जबलपुर की नेताजी सुभाष चंद्र बोस केंद्रीय जेल अब महफूज़ हो गई है. ऐसा इसलिए क्योंकि इस जेल में शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन हो चुका है. प्रदेश भर में यह ऐसी एकमात्र जेल है जहां सभी बंदियों को वैक्सीन लगा दिया गया है. जेल में इस वक्त 3000 कैदियों के साथ 400 स्टाफ और उनका परिवार है. परिवार वालों का भी वैक्सीनेशन कर लिया गया है. ऐसा करने वाली ये प्रदेश की पहली केंद्रीय जेल है.

3 दिन चला वैक्सीनेशन 

कोरोना महामारी के इस दौर में संक्रमण से बचने का एकमात्र उपाय वैक्सीन ही है. सरकार लगातार अपील कर रही है कि ज्यादा से ज्यादा लोग वैक्सीन लगवाएं ताकि कोरोना महामारी पर लगाम लगाई जा सके. लेकिन फिर भी लोगों में वैक्सीन के प्रति उत्साह नजर नही आ रहा है. जबकि जबलपुर की नेताजी सुभाष चंद्र बोस सेंट्रल जेल मध्य प्रदेश की एक ऐसी जगह बन चुकी है जहां 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन हो चुका है. जेल प्रशासन की पहल से अब जबलपुर के सेंट्रल जेल में एक भी बंदी या स्टाफ ऐसा नहीं है जिसे कोरोना का टीका ना लगा हो.

वैक्सीनेशन का महा अभियानजेल अधीक्षक के मुताबिक केंद्र सरकार के दिशा निर्देश के मुताबिक ज्यादा से ज्यादा वैक्सिनेशन करने के मकसद को लेकर जेल प्रशासन ने स्वास्थ्य महकमे से चर्चा की और जेल में वैक्सीनेशन का महा अभियान शुरू कर दिया. स्वास्थ्य महकमे के अधिकारियों की मदद से सेंट्रल जेल में तीन दिवसीय वैक्सीनेशन कैंप लगाया गया. इस शिविर के माध्यम से सेंट्रल जेल में कैद हर एक बंदी को वैक्सीन लगाई गई .शिविर में सुबह 7 बजे से लेकर शाम को 6 बजे तक वैक्सिनेशन किया जाता था. इस जेल में तकरीबन 3000 कैदी मौजूद हैं जिनमें 18 साल से लेकर 80 साल तक के बंदी शामिल हैं. इनमें से कुछ गंभीर बीमारियों से भी जूझ रहे हैं. लेकिन कोरोना वैक्सीन का पहला डोज हर एक बंदी को लगाया गया है. इसके साथ ही दूसरे डोज की भी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है.

सबसे आगे

सेंट्रल जेल के वैक्सीनेशन अभियान में न केवल बंदियों बल्कि सेंट्रल जेल के स्टाफ और उनके परिवार को भी कोरोना टीका लगाया गया है. अच्छी बात यह रही कि सेंट्रल जेल में बंद कैदी और स्टाफ ने वैक्सिनेशन महाअभियान में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया. इसका नतीजा यह रहा कि आज मध्यप्रदेश में नेताजी सुभाष चंद्र बोस सेंट्रल जेल पहली ऐसी जगह बन चुकी है जहां 100 प्रतिशत वैक्सीनेशन हो गया है.









Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *