Maruti Suzuki: मारुति 18000 करोड़ रुपये का निवेश कर हरियाणा में लगाएगी नया प्लांट, लेकिन सरकार की नई नीति से खुश नहीं

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


सार

नया प्लांट गुरुग्राम स्थित मारुति की प्लांट की जगह लेगा क्योंकि कंपनी गुरुग्राम के प्लांट को किसी नजदीकी जगह पर शिफ्ट करना चाहती थी।

ख़बर सुनें

Maruti Suzuki New Plant in Haryana: देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी Maruti Suzuki (मारुति सुजुकी) ने हरियाणा में एक नई मैन्युफैक्चरिंग प्लांट (विनिर्माण सुविधा) के लिए 18,000 करोड़ रुपये के निवेश की योजना बनाई है। इस प्लांट की सालाना उत्पादन क्षमता 7.5 से 10 लाख यूनिट होगी। नया प्लांट गुरुग्राम स्थित मारुति की प्लांट की जगह लेगा क्योंकि कंपनी गुरुग्राम के प्लांट को किसी नजदीकी जगह पर शिफ्ट करना चाहती थी।

मारुति का गुरुग्राम प्लांट, जो 300 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है, भीड़भाड़ और यातायात से जुड़ी समस्याओं का सामना कर रहा है क्योंकि यह रिहायशी इलाकों के पास स्थित है। यह देश में कंपनी का पहला प्लांट है जहां इसने 1983 में अपनी यात्रा शुरू की और अपने लाइनअप से पहला मॉडल – आइकॉनिक मारुति 800 को उतारा।

बीतते समय के साथ गुरुग्राम शहर का भी विकास होता गया, जिससे कारखाना अब एक हलचल भरे शहर में स्थित हो गया है, जिससे कच्चे माल और तैयार उत्पादों को ले जाने वाले ट्रकों के लिए प्लांट के अंदर और बाहर जाना मुश्किल हो गया है। वास्तव में, प्लांट की वजह से पैदा होने वाली ट्रैफिक जाम स्थानीय निवासियों और अधिकारियों के लिए भी एक समस्या बन गई है।
गुरुग्राम प्लांट में मौजूदा समय में ऑल्टो और वैगनआर सहित कार निर्माता के विभिन्न लोकप्रिय मॉडल बनाए जाते हैं और इसकी अनुमानित वार्षिक क्षमता लगभग 7 लाख यूनिट है।

नई विनिर्माण सुविधा के बारे में मारुति सुजुकी इंडिया के अध्यक्ष आरसी भार्गव ने कहा कि कंपनी ने अभी तक कारखाने के निर्माण पर काम शुरू करने के लिए कोई समय सीमा तय नहीं की है। हालांकि, उन्होंने यह जरूर कहा कि ऑटो निर्माता हरियाणा की नई नीति से बहुत खुश नहीं है, जिसमें व्यापार और कारखाने प्रतिष्ठानों में स्थानीय लोगों के लिए 75 फीसदी नौकरी आरक्षण अनिवार्य है। उन्होंने कहा, “वे मुद्दे अभी भी बने हुए हैं, उन्हें हल नहीं किया गया है, इसलिए वहां भी कुछ नहीं बदला है।” मारुति इस बारे में राज्य सरकार से बातचीत कर रही है। 
हरियाणा में बनने वाले नए कारखाने और मौजूदा गुरुग्राम प्लांट के अलावा, मारुति सुजुकी का हरियाणा के मानेसर में एक और मैन्युफैक्चरिंग प्लांट है। गुरुग्राम और मानेसर दोनों संयंत्रों की संयुक्त उत्पादन क्षमता लगभग 15.5 लाख यूनिट सालाना है।

मारुति सुजुकी इंडिया की मूल कंपनी Suzuki Motor Corp (सुजुकी मोटर कॉर्प) ने भी गुजरात में 7.5 लाख यूनिट की सालाना उत्पादन क्षमता के साथ एक मैन्युफैक्चरिंग प्लांट बनाया है। प्लांट ने इस साल अप्रैल में उत्पादन कार्य शुरू किया है।

विस्तार

Maruti Suzuki New Plant in Haryana: देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी Maruti Suzuki (मारुति सुजुकी) ने हरियाणा में एक नई मैन्युफैक्चरिंग प्लांट (विनिर्माण सुविधा) के लिए 18,000 करोड़ रुपये के निवेश की योजना बनाई है। इस प्लांट की सालाना उत्पादन क्षमता 7.5 से 10 लाख यूनिट होगी। नया प्लांट गुरुग्राम स्थित मारुति की प्लांट की जगह लेगा क्योंकि कंपनी गुरुग्राम के प्लांट को किसी नजदीकी जगह पर शिफ्ट करना चाहती थी।

मारुति का गुरुग्राम प्लांट, जो 300 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है, भीड़भाड़ और यातायात से जुड़ी समस्याओं का सामना कर रहा है क्योंकि यह रिहायशी इलाकों के पास स्थित है। यह देश में कंपनी का पहला प्लांट है जहां इसने 1983 में अपनी यात्रा शुरू की और अपने लाइनअप से पहला मॉडल – आइकॉनिक मारुति 800 को उतारा।

बीतते समय के साथ गुरुग्राम शहर का भी विकास होता गया, जिससे कारखाना अब एक हलचल भरे शहर में स्थित हो गया है, जिससे कच्चे माल और तैयार उत्पादों को ले जाने वाले ट्रकों के लिए प्लांट के अंदर और बाहर जाना मुश्किल हो गया है। वास्तव में, प्लांट की वजह से पैदा होने वाली ट्रैफिक जाम स्थानीय निवासियों और अधिकारियों के लिए भी एक समस्या बन गई है।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *