Crime News : राजधानी भोपाल बनी अवैध हथियारों की मंडी, ये कोड वर्ड बोलने पर मिल रही है पिस्टल

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


भोपाल. राजधानी भोपाल अवैध हथियारों (illegal arms) की मंडी बनती जा रही है. सुस्त सुरक्षा व्यवस्था के कारण अवैध हथियारों का कारोबार यहां तेजी से फल-फूल रहा है. यहां तस्करों ने हथियारों की मंडी बना दी है. देसी कट्टटा-तमंचा (pistols) यहां हाथों हाथ बिक रहे हैं.

भोपाल की इस मंडी में दूसरे जिलों और राज्यों से हथियार लाकर यहां पर सप्लाई किये जाते हैं. एक देसी पिस्टल 20 हजार में खरीद के 27 हजार में बेची जाती है. भोपाल क्राइम ब्रांच ने जब रायसेन के एक तस्कर को गिरफ्तार किया तो उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए.

इटारसी से जुड़े तार

क्राइम ब्रांच की टीम ने मुखबिर से सूचना  पर आशिमा मॉल के पास से एक आरोपी को पकड़ा. उसकी पहचान रायसेन के शुभम वर्मा के तौर पर हुई. तलाशी लेने पर उसके पास से तीन देसी पिस्टल, 5 राउंड कारतूस बरामद हुए. वो इटारसी में किसी छत्रपाल से 20-20 हजार रुपये में पिस्टल लेकर आता है. एक पिस्टल पर सात हजार के मुनाफे पर 27 हजार की बेचता है. हथियार तस्कर ने खोखा और डंडा नाम का कोर्ड वर्ड रखा था. वो पहले भी शहर में ये अवैध हथियार सप्लाई कर चुका है.

फरार आरोपी की तलाश
एएसपी क्राइम गोपाल धाकड़ के अनुसार आरोपी शुभम नए लोगों को हथियार नहीं देता था. वह कई दिनों से हथियार तस्करी कर रहा है. कोर्ड वर्ड बताने पर ही हथियार देता था. वह कारतूस भी उपलब्ध करवाता था. फरार छत्रपाल की तलाश की जा रही है. वो तस्करी के साथ ढाबा भी चलाता है. इसी की आड़ में ये गोरखधंधा कर रहा था. वह एक राजनीतिक पार्टी का सक्रिय सदस्य भी है. उसके खिलाफ इटारसी थाने में दर्जन भर से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *