हिमाचल: 41 कॉलेजों में एमबीयू से डिग्री लेने वाला कोई शिक्षक नहीं

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


अमर उजाला नेटवर्क, शिमला
Published by: अरविन्द ठाकुर
Updated Tue, 14 Sep 2021 11:30 AM IST

सार

उच्च शिक्षा निदेशालय ने मानव भारती विश्वविद्यालय की डिग्रियों के आधार पर कॉलेजों में शिक्षक बनने वालों का रिकॉर्ड तलब किया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

हिमाचल प्रदेश के 41 डिग्री कॉलेजों में मानव भारती विश्वविद्यालय से पढ़ा कोई भी व्यक्ति शिक्षक के पद पर नियुक्त नहीं हुआ है। उच्च शिक्षा निदेशालय के पास इन कॉलेजों से जानकारी आ गई है। 91 कॉलेजों के प्रिंसिपलों ने अभी तक इस बाबत निदेशालय को कोई जानकारी नहीं दी है। सोमवार को उच्च शिक्षा निदेशालय की ओर से इन कॉलेजों को रिमांइडर भेजा गया है। तीन दिनों के भीतर जानकारी देने को कहा गया है।

उच्च शिक्षा निदेशालय ने मानव भारती विश्वविद्यालय की डिग्रियों के आधार पर कॉलेजों में शिक्षक बनने वालों का रिकॉर्ड तलब किया है। कॉलेजों से मिलने वाली इन जानकारियों को प्रदेश पुलिस की एसआईटी को सौंपा जाएगा। मानव भारती विश्वविद्यालय के खिलाफ जिला सोलन के धर्मपुर पुलिस थाना में फर्जी डिग्रियों का केस दर्ज है। उच्च शिक्षा निदेशालय के अनुसार मानव भारती विश्वविद्यालय से शिक्षा प्राप्त करने वाले किसी व्यक्ति ने इस डिग्री के आधार पर कॉलेजों में शिक्षकों की नौकरी तो नहीं ली है, इसका ब्योरा एकत्र किया जा रहा है।

यह विश्वविद्यालय अब फर्जी डिग्रियों के फेर में फंसा है। ऐसे में शिक्षा निदेशालय ने अब कॉलेजों में नियुक्त ऐसे शिक्षकों की सूची एकत्र करने का फैसला लिया है। इस जानकारी को जुटाने के बाद पुलिस देखेगी कि कॉलेज में नियुक्त ऐसे शिक्षकों की डिग्रियां फर्जी हैं या सही। मानव भारती विश्वविद्यालय की करीब 36 हजार डिग्रियां संदेह के घेरे में हैं। मात्र पांच हजार डिग्रियों को सही बताया जा रहा है। ऐसे में शिक्षा निदेशालय ने कॉलेज शिक्षकों की डिग्रियों की जांच करवाने का फैसला लिया है। 

विस्तार

हिमाचल प्रदेश के 41 डिग्री कॉलेजों में मानव भारती विश्वविद्यालय से पढ़ा कोई भी व्यक्ति शिक्षक के पद पर नियुक्त नहीं हुआ है। उच्च शिक्षा निदेशालय के पास इन कॉलेजों से जानकारी आ गई है। 91 कॉलेजों के प्रिंसिपलों ने अभी तक इस बाबत निदेशालय को कोई जानकारी नहीं दी है। सोमवार को उच्च शिक्षा निदेशालय की ओर से इन कॉलेजों को रिमांइडर भेजा गया है। तीन दिनों के भीतर जानकारी देने को कहा गया है।

उच्च शिक्षा निदेशालय ने मानव भारती विश्वविद्यालय की डिग्रियों के आधार पर कॉलेजों में शिक्षक बनने वालों का रिकॉर्ड तलब किया है। कॉलेजों से मिलने वाली इन जानकारियों को प्रदेश पुलिस की एसआईटी को सौंपा जाएगा। मानव भारती विश्वविद्यालय के खिलाफ जिला सोलन के धर्मपुर पुलिस थाना में फर्जी डिग्रियों का केस दर्ज है। उच्च शिक्षा निदेशालय के अनुसार मानव भारती विश्वविद्यालय से शिक्षा प्राप्त करने वाले किसी व्यक्ति ने इस डिग्री के आधार पर कॉलेजों में शिक्षकों की नौकरी तो नहीं ली है, इसका ब्योरा एकत्र किया जा रहा है।

यह विश्वविद्यालय अब फर्जी डिग्रियों के फेर में फंसा है। ऐसे में शिक्षा निदेशालय ने अब कॉलेजों में नियुक्त ऐसे शिक्षकों की सूची एकत्र करने का फैसला लिया है। इस जानकारी को जुटाने के बाद पुलिस देखेगी कि कॉलेज में नियुक्त ऐसे शिक्षकों की डिग्रियां फर्जी हैं या सही। मानव भारती विश्वविद्यालय की करीब 36 हजार डिग्रियां संदेह के घेरे में हैं। मात्र पांच हजार डिग्रियों को सही बताया जा रहा है। ऐसे में शिक्षा निदेशालय ने कॉलेज शिक्षकों की डिग्रियों की जांच करवाने का फैसला लिया है। 



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *