लखीमपुर हिंसा: अजय मिश्रा की बर्खास्तगी की मांग को लेकर आज ‘मौन व्रत’ रखेगी कांग्रेस

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


Lakhimpur Kheri Violence Case: लखीमपुर हिंसा मामले के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी की मांग को लेकर कांग्रेस पार्टी आज देशभर में ‘मौन व्रत’ कार्यक्रम का आयोजन करेगी. सभी राज्यों में राजभवनों के बाहर सुबह 10 से दोपहर 1 बजे के बीच कांग्रेस नेता इकट्ठे होकर मौन रखेंगे. सभी प्रदेश इकाइयों से कहा गया है कि वह इन कार्यक्रमों में वरिष्ठ नेताओं, सांसदों, विधायकों और विभागों के प्रमुखों की भागीदारी सुनिश्चित करे.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अनिल चौधरी के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता आज सुबह 11 बजे राजभवन पर लखीमपुर घटना के विरोध में मौन व्रत रखेंगे. वहीं जम्मू-कश्मीर प्रदेश कांग्रेस आज राजभवन के बाहर सुबह 9.30 बजे प्रदर्शन करेगी.

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा के अनुसार, लखीमपुर हिंसा मामले में सरकार कार्रवाई नहीं करना चाहती है. कांग्रेस के दबाव में ही आरोपी को समन भेजा गया और कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा, “गृह राज्यमंत्री इतना कुछ हो जाने के बाद भी अपने पद पर बने हुए हैं. कांग्रेस की सरकार में आरोप भले ही साबित न हो, पर इस्तीफा ले लिए जाते थे. हमारी मांग है कि प्रधानमंत्री लोकतंत्र की रक्षा के लिए 24 घंटे में अजय मिश्रा को बर्खास्त करें.”

संयुक्त किसान मोर्चा ने भी दी चेतावनी
संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने रविवार को केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार को चेतावनी दी कि लखीमपुर हिंसा के मामले में 11 अक्टूबर तक केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को पद से नहीं हटाया गया और गिरफ्तार नहीं किया गया तो वह चरणबद्ध प्रदर्शन शुरू करेगा. इससे पहले एसकेएम ने कहा था कि सरकार के पास मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए 11 अक्टूबर तक का समय है और ऐसा नहीं हुआ तो मोर्चा लखीमपुर खीरी हिंसा के खिलाफ चरणबद्ध प्रदर्शन शुरू करेगा.

दरअसल, लखीमपुर खीरी में बीते रविवार को हुई हिंसा में चार किसानों सहित नौ लोगों के मारे जाने की जानकारी सामने आ रही है. उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए लखीमपुर आ रहे थे और उसी रास्ते पर किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. उसी दौरान हिंसा हुई और इसके लिए केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे और किसानों के प्रदर्शन में शामिल उपद्रवी तत्वों को जिम्मेदार बताया जा रहा है. अभी मामले में जांच चल रही है, कई लोगों खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

ये भी पढ़ें-
Drugs Case: आर्यन खान समेत तीन लोगों की जमानत याचिका पर आज हो सकती है सुनवाई, लोअर कोर्ट में खारिज हो गई थी याचिका

Jammu Kashmir: फारूक अब्दुल्ला की नेशनल कॉन्फ्रेंस को तगड़ा झटका, इस्तीफा देने वाले दोनों प्रमुख नेता आज BJP में हो सकते हैं शामिल



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *