रूपेश हत्याकांड: पत्रकारों पर भड़के नीतीश कुमार, बीच सड़क डीजीपी को मिलाया फोन


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटना
Updated Fri, 15 Jan 2021 12:07 PM IST

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)
– फोटो : ANI

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

बिहार की राजधानी पटना में इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या के बाद जनता में काफी आक्रोश है। पटना के अलावा छपरा में स्थित उनके आवास पर भी मातम पसरा हुआ है। इसी बीच गुरुवार को राज्यसभा सांसद और भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी रूपेश के परिजनों से मिलने के लिए पहुंचे। वहां कुछ ऐसा हुआ जिसने सभी को झकझोर कर रख दिया। इसके अलावा घटना पर सवाल पूछे जाने पर सूबे के मुख्यमंत्री नाराज हो गए। इतना ही नहीं उन्होंने डीजीपी को पत्रकारों के सामने ही फोन मिला दिया।

सवाल पूछे जाने पर भड़के नीतीश कुमार, डीजीपी को मिलाया फोन
रूपेश हत्याकांड पर सवाल पूछे जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भड़क गए। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि आपको जानकारी है तो बताइए। रूपेश के हत्यारे नहीं बचेंगे। इतना ही नहीं उन्होंने पत्रकारों से पूछ लिया कि आप किस पार्टी से हैं। बिहार में 15 साल जब अपराध होता था तब कोई नहीं बोलता था। आज अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाती है। नीतीश ने कहा कि स्पेशल टीम मामले की जांच कर रही है। हत्या के पीछे कोई न कोई कारण होता है। अगर आपको पास किसी अपराध के बारे में जानकारी है तो सीधा हमें बताइए।

पत्रकारों ने जब मुख्यमंत्री से पूछा कि आखिर वे किसे सूचना दें तो इसपर नीतीश ने कहा कि आप सीधे बिहार के डीजीपी को जानकारी दीजिए। पत्रकारों ने आरोप लगाया कि बिहार के डीजीपी फोन नहीं उठाते हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री ने खुद डीजीपी को फोन मिलाया। मुख्यमंत्री के फोन को डीजीपी एसके सिंघल ने दो रिंग के बाद ही उठा लिया। फिर नीतीश ने उनसे कहा कि डीजीपी साहब फोन उठाया करिए।

यह भी पढ़ें- इंडिगो के मैनजर की हत्या पर गरमाई सियासत, तेज प्रताप बोले-‘महाजंगलराज का महाराजा’ इस्तीफा दो

हत्यारों को मां मारेगी पहली गोली मेरी
सुशील मोदी गुरुवार को छपरा में रूपेश के परिजनों से मिलने के लिए पहुंचे तो मृतक की बेटी उनसे लिपटकर रोने लगी। नन्ही सी बच्ची आराध्या को रोता देख सुशील मोदी की आंखें भी नम हो गईं। बच्ची ने सांसद से कहा कि अपराधी पकड़े जाएंगे तो उसकी मम्मी उन्हें पहली गोली मारेगी।
 

मोदी से बच्ची ने कहा कि मैं रोई नहीं क्योंकि मम्मी को बुरा लगेगा। उसने कहा कि उसे केवल अपने पिता के लिए न्याय चाहिए। पूर्व उपमुख्यमंत्री रूपेश के गांव संवरी बख्शी पहुंचे थे। यहां उन्होंने उनके परिजनों से मुलाकात करने के बाद कहा कि जल्द ही रूपेश के हत्यारे पकड़े जाएंगे। इसके लिए राज्य सरकार विशेष कार्य कर रही है। उन्होंने रूपेश के परिजनों से मिलकर संवेदना जताई।

हत्याकांड में अबतक क्या हुआ
पुलिस लगातार इस हत्याकांड की तफ्तीश कर रही है। सूत्रों के अनुसार हत्यारे पटना हवाई अड्डे से ही रूपेश के पीछे लगे हुए थे। हालांकि उन्हें पूरे रास्ते मौका नहीं मिला और आखिर में उन्होंने रूपेश को उनके अपार्टमेंट के बाहर ही गोली मार दी। पटना पुलिस की एक टीम गुरुवार को छानबीन करने के लिए हवाई अड्डे भी पहुंची। पुलिस को इस केस में कुछ अहम सुराग मिले हैं। इन्हें फिलहाल जाहिर नहीं किया गया है। इसके अलावा उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का भी इंतजार है।

बिहार की राजधानी पटना में इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह की हत्या के बाद जनता में काफी आक्रोश है। पटना के अलावा छपरा में स्थित उनके आवास पर भी मातम पसरा हुआ है। इसी बीच गुरुवार को राज्यसभा सांसद और भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी रूपेश के परिजनों से मिलने के लिए पहुंचे। वहां कुछ ऐसा हुआ जिसने सभी को झकझोर कर रख दिया। इसके अलावा घटना पर सवाल पूछे जाने पर सूबे के मुख्यमंत्री नाराज हो गए। इतना ही नहीं उन्होंने डीजीपी को पत्रकारों के सामने ही फोन मिला दिया।

सवाल पूछे जाने पर भड़के नीतीश कुमार, डीजीपी को मिलाया फोन

रूपेश हत्याकांड पर सवाल पूछे जाने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भड़क गए। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि आपको जानकारी है तो बताइए। रूपेश के हत्यारे नहीं बचेंगे। इतना ही नहीं उन्होंने पत्रकारों से पूछ लिया कि आप किस पार्टी से हैं। बिहार में 15 साल जब अपराध होता था तब कोई नहीं बोलता था। आज अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाती है। नीतीश ने कहा कि स्पेशल टीम मामले की जांच कर रही है। हत्या के पीछे कोई न कोई कारण होता है। अगर आपको पास किसी अपराध के बारे में जानकारी है तो सीधा हमें बताइए।

पत्रकारों ने जब मुख्यमंत्री से पूछा कि आखिर वे किसे सूचना दें तो इसपर नीतीश ने कहा कि आप सीधे बिहार के डीजीपी को जानकारी दीजिए। पत्रकारों ने आरोप लगाया कि बिहार के डीजीपी फोन नहीं उठाते हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री ने खुद डीजीपी को फोन मिलाया। मुख्यमंत्री के फोन को डीजीपी एसके सिंघल ने दो रिंग के बाद ही उठा लिया। फिर नीतीश ने उनसे कहा कि डीजीपी साहब फोन उठाया करिए।

यह भी पढ़ें- इंडिगो के मैनजर की हत्या पर गरमाई सियासत, तेज प्रताप बोले-‘महाजंगलराज का महाराजा’ इस्तीफा दो

हत्यारों को मां मारेगी पहली गोली मेरी

सुशील मोदी गुरुवार को छपरा में रूपेश के परिजनों से मिलने के लिए पहुंचे तो मृतक की बेटी उनसे लिपटकर रोने लगी। नन्ही सी बच्ची आराध्या को रोता देख सुशील मोदी की आंखें भी नम हो गईं। बच्ची ने सांसद से कहा कि अपराधी पकड़े जाएंगे तो उसकी मम्मी उन्हें पहली गोली मारेगी।

 

मोदी से बच्ची ने कहा कि मैं रोई नहीं क्योंकि मम्मी को बुरा लगेगा। उसने कहा कि उसे केवल अपने पिता के लिए न्याय चाहिए। पूर्व उपमुख्यमंत्री रूपेश के गांव संवरी बख्शी पहुंचे थे। यहां उन्होंने उनके परिजनों से मुलाकात करने के बाद कहा कि जल्द ही रूपेश के हत्यारे पकड़े जाएंगे। इसके लिए राज्य सरकार विशेष कार्य कर रही है। उन्होंने रूपेश के परिजनों से मिलकर संवेदना जताई।

हत्याकांड में अबतक क्या हुआ

पुलिस लगातार इस हत्याकांड की तफ्तीश कर रही है। सूत्रों के अनुसार हत्यारे पटना हवाई अड्डे से ही रूपेश के पीछे लगे हुए थे। हालांकि उन्हें पूरे रास्ते मौका नहीं मिला और आखिर में उन्होंने रूपेश को उनके अपार्टमेंट के बाहर ही गोली मार दी। पटना पुलिस की एक टीम गुरुवार को छानबीन करने के लिए हवाई अड्डे भी पहुंची। पुलिस को इस केस में कुछ अहम सुराग मिले हैं। इन्हें फिलहाल जाहिर नहीं किया गया है। इसके अलावा उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट का भी इंतजार है।





Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *