मौसम: हिमाचल में तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट, 21 जुलाई तक बरसेंगे बादल

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


हिमाचल प्रदेश में मौसम विभाग ने तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने प्रदेश के मैदानी व मध्य पर्वतीय भागों में 18 और 19 जुलाई को भारी से बहुत भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। वहीं 15 से 17 जुलाई तक येलो अलर्ट जारी किया गया है। प्रदेश में 21 जुलाई तक मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान है। विभाग ने ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, चंबा, कांगड़ा, कुल्लू, मंडी, शिमला, सोलन और सिरमौर जिले के लिए ऑरेंज-येलो अलर्ट जारी किया है। 

प्रदेश में 37 सड़कें अभी भी बंद
प्रदेश में बारिश का कहर अभी भी जारी है। बुधवार रात को प्रदेश के कई क्षेत्रों में बादल बरसे। प्रदेश में 37 सड़कें गुरुवार शाम तक भी बंद रहीं। जिला कुल्लू की सैंज घाटी की भलाहण-दो पंचायत के जौली नाले में भारी बारिश के बाद बाढ़ आ गई। बाढ़ का मलबा आधा दर्जन घरों में घुस गया। गुरुवार सुबह करीब तीन बजे अचानक पानी आने की आवाज सुनकर लोगों की नींद खुली। बारिश के बीच लोग अपने परिवार को साथ लेकर सुरक्षित स्थानों की ओर भागे। गनीमत यह रही कि नाले ने अपना रुख गांव की ओर नहीं किया। बावजूद बाढ़ का मलबा कई घरों में घुस गया। बाढ़ से खेती को भारी नुकसान हुआ है। टमाटर, मक्की और राजमा की फसल तबाह हो गई है। सुबह के समय नाले में अचानक जलस्तर बढ़ जाने से लोगों में अफरातफरी मच गई। 

कुल्लू जिला में भूस्खलन से 20 सड़कें व 22 पेयजल स्कीमें प्रभावित
जिला चंबा में मूसलाधार बारिश से भटियात विधानसभा क्षेत्र में हुई तबाही के बाद ग्राम पंचायत गोला के गांव ब्यौगा में सात परिवारों के 18 लोगों को लोअर ब्यौगा में शिफ्ट किया गया। ब्यौगा गांव में अपने रिश्तेदारों के घरों में ठहरने की बात कहने पर इन परिवारों को प्रशासन की ओर से तहसीलदार डॉ. मुकुल अनिल शर्मा द्वारा राशन कीटें, तिरपाल और पांच-पांच हजार फौरी राहत के तौर पर सौंपी। गुरुवार को मौसम साफ रहने के बाद भी चंबा-जोत मार्ग सहित 11 मार्गो पर यातायात थमा रहा। जनजातीय क्षेत्र पांगी में तीसरे दिन भी 30 गांवों में बिजली की आपूर्ति बंद पड़ी रही। उधर, भूस्खलन से भुंतर-मणिकर्ण मार्ग गुरुवार को दो घंटे अवरुद्ध रहा। सड़क में कई पर्यटक व सब्जियों की गाड़ियां फंस गईं। कुल्लू जिला में भूस्खलन से 20 सड़कें, 22 पेयजल स्कीमें प्रभावित हैं।

केलांग में अधिकतम तापमान 24.7 डिग्री सेल्सियस
शिमला में न्यूनतम तापमान 16.0, सुंदरनगर 22.2, भुंतर 19.4, कल्पा 13.0, धर्मशाला 19.8, ऊना 25.8, नाहन 23.3 , केलांग 12.2, पालमपुर 19.5, सोलन 19.8, मनाली 16.6, कांगड़ा 23.2, मंडी 22.0, बिलासपुर 24.0, हमीरपुर 24.4, चंबा 21.4, डलहौजी 16.3 और कुफरी में 14.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया है। गुरुवार को ऊना में अधिकतम तापमान 36.0, कांगड़ा  33.1, बिलासपुर  33.0, हमीरपुर  32.2, चंबा  31.7, सोलन में 29.0, नाहन में 26.2, कल्पा में 24.4, शिमला में 23.0, डलहौजी में 20.1 और केलांग में 24.7 डिग्री सेल्सियस रहा।

एक सप्ताह में 98.7 एमएम बारिश दर्ज
बीते सप्ताह के दौरान हिमाचल प्रदेश राज्य में मानसून पूरी तरह सक्रिय रहा। सप्ताह के दौरान राज्य में 98.7 मिली मीटर वास्तविक वर्षा हुई। इस दौरान जिला कुल्लू, कांगड़ा, हमीरपुर, सिरमौर में अत्यधिक वर्षा हुई। बिलासपुर, लाहुल-स्पीति, मंडी, शिमला, सोलन में भारी बारिश दर्ज हुई। वहीं चंबा और किन्नौर में सामान्य, जबकि जिला ऊना में कम वर्षा हुई। जबकि जिला कांगड़ा, कुल्लू, हमीरपुर, सिरमौर, बिलासपुर और मंडी में सप्ताह के दौरान भारी से बहुत भारी बारिश की घटनाएं सामने आई हैं।  इस मानसून सीजन के दौरान अब तक राज्य में 203.2 मिमी वास्तविक वर्षा हुई जो सामान्य है।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *