मैं भारत की सबसे बड़ी लैला बना हुआ हूं और मेरे कई मजनू हैं: ओवैसी


हैदराबाद: ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव (GHMC) के लिए BJP और AIMIM ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इस दौरान दोनों पार्टियों में तीखी नोकझोंक भी देखने को मिल रही है. प्रचार के आखिरी दिन जहां केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने रोड शो के दौरान मजलिस और टीआरएस में ईलू ईलू और हैदराबाद को निजाम कल्‍चर से मुक्‍त कराने की बात कही. तो वहीं AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने पलटवार करते हुए भाजपा पर हिन्दू-मुस्लिम सांप्रदायिक धुव्रीकरण करने का आरोप लगा दिया. इतना ही नहीं, ZEE NEWS के साथ खास बातचीत में ओवैसी ने कहा, ‘मेरा हाल ऐसा है ना मैं भारत की सबसे बड़ी लैला बना हुआ हूं. और मेरे कई मजनू बने हुए हैं.’ 

‘ये चुनाव भाग्यनगर बनाम हैदराबाद है’
ओवैसी ने कहा, बीजेपी का उद्देश्य हैदराबाद का नाम बदलना है. यह चुनाव भाग्यनगर बनाम हैदराबाद है. बीजेपी के टिकट बंटवारे को लेकर ओवैसी ने चुनाव प्रचार के लिए गए सीएम योगी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘वो हमें सांप्रदायिक कहते हैं तो ये बताइए हमने हिंदुओं को टिकट दिया है, अब बीजेपी बताए कि उसने कितने मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया है. बीजेपी का मकसद केवल हैदराबाद का नाम बदलना है. ये भाग्यनगर बनाम हैदराबाद है. मैं संविधान की शपथ लेता हूं और ये लोग मुझे जिन्ना कहते हैं.’

रोहिंग्या मुस्लिमों पर शाह का ओवैसी को जवाब
इससे पहले रविवार को अमित शाह ने तेलंगाना में रोहिंग्या मुसलमानों और बांग्लादेशियों की मौजूदगी को लेकर ओवैसी पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं जब कार्रवाई करता हूं तो ये लोग (विपक्षी दल) हायतौबा करते हैं. ये लोग एक बार लिखकर दे दें कि बांग्लादेशी और रोहिंग्या को निकाल दें फिर मैं करता हूं.’ उन्होंने कहा कि सिर्फ चुनाव में बात करके कुछ नहीं होता. जब पार्लियामेंट में बहस होती है तब ये क्या करते हैं सारे देश ने देखा है.’ दरअसल, AIMIM चीफ ओवैसी ने कहा था कि ‘अगर हैदराबाद में अवैध बांग्लादेशी और रोहिंग्या रहते हैं तो अमित शाह कार्रवाई क्यों नहीं करते. ओवैसी की इसी टिप्पणी का अमित शाह ने जवाब दिया है.

ये भी पढ़ें:- महंगा हो गया Xiaomi का ये बजट स्मार्टफोन, जानें क्या है नई कीमत

शाह का ओवैसी और टीआरएस से सवाल
शाह ने कहा, ‘हम हैदराबाद को वंशवाद से लोकतंत्र की ओर ले जाना चाहते हैं, चाहे ओवैसी साहब की पार्टी हो या TRS हो, सब हमें सवाल करते हैं. मैं इसने पूछना चाहता हूं कि इतने बड़े तेलंगाना में आपको आपके परिवार के अलावा कोई नहीं मिलता है क्या? क्या किसी में कोई टैलेंट नहीं है?’ उन्होंने कहा, ‘केसीआर और मजलिस ने 100 दिन की योजना का वादा किया था, इसका हिसाब हैदराबाद की जनता मांगती है. 5 साल में कुछ भी किया हो तो यहां की जनता के सामने रखिए. सिटीजन चार्टर का वादा किया था, उसका क्या हुआ?’

ये भी पढ़ें:- 1 साल में 23 बच्चों का ‘पापा’ बना ये युवक, बताया- महिलाएं क्यों करती हैं पसंद

मजलिस और टीआरएस में ईलू ईलू : अमित शाह
अमित शाह ने कहा कि ‘टीआरएस और मजलिस के बीच गुप्त समझौता है लेकिन मुझे समझौते से दिक्कत नहीं है. मुझे दिक्कत है कि वे यह छिपकर क्यों करते हैं.’ शाह ने आगे कहा, ‘कमरे में इलू-इलू करते हैं. खुलेआम क्यों नहीं कह देते कि हां, मजलिस के साथ हमारा रिश्ता है. उन्होंने कहा कि सरदार पटेल के कारण हैदराबाद और आसपास के इलाके भारत के साथ जुड़े लेकिन जिन्होंने उस दौरान पाकिस्तान जाने की मुहिम चलाई थी ऐसी निजाम संस्कृति से हम हैदराबाद को निजात दिलाना चाहते हैं.’

LIVE TV





Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *