बेहद तेज काम कर रहा सीरम इंस्टिट्यूट, 95 फीसदी वैक्सीन खुराक की आपूर्ति


कोविशील्ड को इमरजेंसी यूज की अनुमति दी जा चुकी है.(फाइल फोटो)

ऑक्सफोर्ड/एक्सट्राजेनिका (Oxford/AstraZeneca) के कोविड-19 रोधी टीके ‘कोवीशल्ड’ (Covishield) की पहली खेप मंगलवार सुबह पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) की विनिर्माण इकाई से निकली थी.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    January 13, 2021, 11:01 PM IST

पुणे. भारत सरकार द्वारा खरीदी गई कोरोना वायरस के टीके (Corona Virus Vaccine) की 1.1 करोड़ खुराकों (Doses) में से 95 फीसदी की आपूर्ति देश भर में कर दी गई है. सूत्रों ने बुधवार को यह जनकारी दी. इससे एक दिन पहले ही टीके को देश के अलग-अलग हिस्सों में पहुंचाने का काम शुरू हुआ था.

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में इस टीके का निर्माण किया गया है
ऑक्सफोर्ड/एक्सट्राजेनिका (Oxford/AstraZeneca) के कोविड-19 रोधी टीके ‘कोवीशल्ड’ (Covishield) की पहली खेप मंगलवार सुबह पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) की विनिर्माण इकाई से निकली थी. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में इस टीके का निर्माण किया गया है. टीके की खेप लेकर विमान पुणे से 13 शहरों के लिए रवाना हुए थे.

एक लाख से अधिक खुराकों की आपूर्ति भी जल्दी कर दी जाएगीपरिवहन व्यवस्था में शामिल सूत्रों ने बताया, ‘कुल खरीद ऑर्डर (1.1 करोड़ खुराकों) में से अबतक 95 फीसदी खुराकों की आपूर्ति कर दी गई है. शेष एक लाख से अधिक खुराकों की आपूर्ति भी जल्दी कर दी जाएगी.’

‘एसबी लॉजिस्टिक’ के एमडी संदीप भोसले ने बताया कि बुधवार को विमान टीके की खेप लेकर आगरा, मेरठ, बरेली, पुडुचेरी, पोर्ट ब्लेयर और लेह रवाना हुए.

गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से शुरू होने जा रहा है. देश में सीरम इंस्टिट्यूट की वैक्सीन के अलावा आईसीएमआर और भारत-बायोटेक की वैक्सीन को भी इमरजेंसी यूज की अनुमति दी गई है. यह वैक्सीन भारत की स्वदेशी है.

वैक्सीन को लेकर फैली अफवाहों पर आईसीएमआर के संक्रामक विभाग के हेड डॉ. समीरन पांडा ने कहा है कि लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है. उन्होंने साफ किया है कि इमरजेंसी यूज की अनुमति वाली दोनों ही वैक्सीन लोगों के लिए पूरी तरह सुरक्षित हैं. उन्होंने कहा कि वैक्सीन के खिलाफ अफवाह तंत्र से आम लोगों को भी लड़ना होगा.








Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *