बीजेपी नेताओं पर हमले के बाद पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौर पर जाएंगे गृह मंत्री अमित शाह


केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में तृणमूल कांग्रेस (TMC) के कथित कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा (JP Nadda) के काफिले पर हमला किया.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    December 11, 2020, 10:24 AM IST

नई दिल्ली/कोलकाता. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह  (Amit Shah)अगले हफ्ते पश्चिम बंगाल (West Bengal) के दौरे पर जाएंगे. शाह का यह दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. बता दें गुरुवार को बंगाल में भारतीय जनता पार्टी  (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (JP Nadda) और बीजेपी के राज्य प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) दौरे पर थे. इसी दौरान उनकी गाड़ी पर पत्थरबाजी हुई. बीजेपी नेताओं ने दावा किया कि राज्य में सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने यह हमला किया जबकि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने इसे नाटक बताया है.

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार शाह 19 दिसंबर को कोलकाता पहुंचेंगे और वहां 20 दिसंबर तक रुकेंगे. अगले साल राज्य के विधानसभा चुनाव के बीच टीएमसी और बीजेपी के बीच बढ़ रही जंग से राजनीतिक तापमान का अन्दाजा कठिन नहीं है. दूसरी ओर केंद्र सरकार ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के पश्चिम बंगाल दौरे के समय कथित ‘गंभीर सुरक्षा खामियों’ को लेकर गुरुवार को राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की. केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से यह रिपोर्ट पश्चिम बंगाल सरकार से मांगी गई है जब बुधवार को भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखा था.

दिलीप घोष ने लिखी चिट्ठी
अपने पत्र में घोष ने आरोप लगाया था कि 200 से अधिक लोगों की भीड़ लाठी और डंडों के साथ कोलकाता में भाजपा कार्यालय के सामने मौजूद थी और काले झंडे दिखा रही थी.उन्होंने यह दावा भी किया था कि कुछ प्रदर्शनकारी पार्टी कार्यालय के सामने खड़ी कारों पर चढ़ गए और नारेबाजी की, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए हस्तक्षेप नहीं किया. गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि मंत्रालय ने भाजपा अध्यक्ष के दौरे के समय कथित ‘गंभीर सुरक्षा खामियों’ को लेकर पश्चिम बंगाल सरकार से रिपोर्ट मांगी है.

घोष ने पत्र में यह दावा भी किया था, ‘आज कोलकाता में उनके (नड्डा के) कार्यक्रमों के दौरान यह देखा गया कि सुरक्षा इंतजामों में गंभीर खामियां थीं. यह पुलिस विभाग की लापरवाही या फिर ढीले-ढाले रवैये के कारण था.’ नड्डा पश्चिम बंगाल के दो दिनों के दौरे पर थे. गुरुवार को डायमंड हार्बर इलाके में उनके काफिले पर पत्थर फेंके गए.

शाह ने जताई चिंता, ममता ने बताया नाटक
वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हमले को नाटक करार दिया. बनर्जी ने कोलकाता में कहा, ‘वे (भाजपा कार्यकर्ता) हर दिन हथियारों के साथ (रैलियों के लिए) आते हैं. वे खुद को थप्पड़ मार रहे हैं और इसका आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगा रहे हैं. जरा स्थिति के बारे में सोचिए. वे बीएसएफ, सीआरपीएफ, सेना और सीआईएसएफ के साथ घूम रहे हैं…तो फिर आप इतने भयभीत क्यों हो.’

इसके साथ ही भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह ने अपने ट्वीट में कहा, ‘तृणमूल शासन में बंगाल अत्याचार, अराजकता और अंधकार के युग में जा चुका है. टीएमसी के राज में पश्चिम बंगाल के अंदर जिस तरह से राजनीतिक हिंसा को संस्थागत कर चरम सीमा पर पहुँचाया गया है, वह लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास रखने वाले सभी लोगों के लिए दु:खद भी है और चिंताजनक भी.’

उन्होंने लिखा, ‘बंगाल में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा जी के ऊपर हुआ हमला बहुत ही निंदनीय है, उसकी जितनी भी निंदा की जाए वो कम है. केंद्र सरकार इस हमले को पूरी गंभीरता से ले रही है. बंगाल सरकार को इस प्रायोजित हिंसा के लिए प्रदेश की शांतिप्रिय जनता को जवाब देना होगा.’





Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *