बिहार विधान परिषद: पंचायत चुनाव न होने के चलते 17 जुलाई को रिक्त हो जाएंगी 19 सीटें

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


पीटीआई, पटना
Published by: गौरव पाण्डेय
Updated Thu, 15 Jul 2021 11:11 PM IST

सार

बिहार में पंचायत चुनाव अब तक नहीं हो पाने के कारण राज्य विधान परिषद की 19 सीटें 17 जुलाई को एक साथ रिक्त हो जाएंगी। 

बिहार विधान परिषद
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सचिव बिनोद कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि इन सीटों पर निर्वाचित वर्तमान सदस्यों का कार्यकाल 16 जुलाई को समाप्त हो रहा है। उन्होंने बताया कि (कोविड-19 महामारी के कारण) पंचायत चुनाव नहीं होने से इन सीटों के लिए अब तक चुनाव संपन्न नहीं हो सका है।

महामारी की दूसरी लहर के कारण बिहार में पंचायत चुनाव नहीं होने पाने पर राज्य सरकार ने पंचायती संस्थानों में चुनाव संपन्न होने तक वैकल्पिक व्यवस्था किए जाने को लेकर गत दो जून को एक अधिसूचना जारी की थी। बिहार की 75 सदस्यीय विधान परिषद में पूर्व से छह सीटें खाली हैं और 17 जुलाई को स्थानीय निकाय की 19 सीट खाली हो जाने पर सदन की कुल खाली सीटों की संख्या बढ़कर 25 हो जाएगी।

विधान परिषद की पूर्व से खाली पड़ी छह सीटों में से स्थानीय निकाय से पूर्व में चुनाव जीते मनोज यादव, दिलीप राय और रीतलाल अब विधायक बन चुके हैं और हरिनारायण चौधरी और सुनिल कुमार का निधन हो चुका तथा विधानसभा कोटे से निर्वाचित तनवीर अख्तर के निधन से यह सीट भी अभी खाली है। 

रिक्त होने वाली इन सीटों में राधाचरण साह, मनोरमा देवी, रीणा यादव, संतोष कुमार सिंह, सलमान रागिब, राजन कुमार सिंह, सचिदानंद राय, टुनजी उर्फ टुन्ना पांडेय, राजेश कुमार उर्फ बब्लू गुप्ता, दिनेश प्रसाद सिंह, सुबोध कुमार, राजेश राम, दिलीप कुमार जयासवाल, संजय प्रसाद सिंह, अशोक कुमार अग्रवाल, नूतन सिंह, सूमन कुमार, आदित्य नारायण पांडेय और रजनीश कुमार की सीट शामिल हैं।

विस्तार

बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सचिव बिनोद कुमार ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि इन सीटों पर निर्वाचित वर्तमान सदस्यों का कार्यकाल 16 जुलाई को समाप्त हो रहा है। उन्होंने बताया कि (कोविड-19 महामारी के कारण) पंचायत चुनाव नहीं होने से इन सीटों के लिए अब तक चुनाव संपन्न नहीं हो सका है।

महामारी की दूसरी लहर के कारण बिहार में पंचायत चुनाव नहीं होने पाने पर राज्य सरकार ने पंचायती संस्थानों में चुनाव संपन्न होने तक वैकल्पिक व्यवस्था किए जाने को लेकर गत दो जून को एक अधिसूचना जारी की थी। बिहार की 75 सदस्यीय विधान परिषद में पूर्व से छह सीटें खाली हैं और 17 जुलाई को स्थानीय निकाय की 19 सीट खाली हो जाने पर सदन की कुल खाली सीटों की संख्या बढ़कर 25 हो जाएगी।

विधान परिषद की पूर्व से खाली पड़ी छह सीटों में से स्थानीय निकाय से पूर्व में चुनाव जीते मनोज यादव, दिलीप राय और रीतलाल अब विधायक बन चुके हैं और हरिनारायण चौधरी और सुनिल कुमार का निधन हो चुका तथा विधानसभा कोटे से निर्वाचित तनवीर अख्तर के निधन से यह सीट भी अभी खाली है। 

रिक्त होने वाली इन सीटों में राधाचरण साह, मनोरमा देवी, रीणा यादव, संतोष कुमार सिंह, सलमान रागिब, राजन कुमार सिंह, सचिदानंद राय, टुनजी उर्फ टुन्ना पांडेय, राजेश कुमार उर्फ बब्लू गुप्ता, दिनेश प्रसाद सिंह, सुबोध कुमार, राजेश राम, दिलीप कुमार जयासवाल, संजय प्रसाद सिंह, अशोक कुमार अग्रवाल, नूतन सिंह, सूमन कुमार, आदित्य नारायण पांडेय और रजनीश कुमार की सीट शामिल हैं।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *