नशीले पदार्थों का सेवन बढ़ा सकता है कोविड-19 ब्रेकथ्रू संक्रमण का जोखिम

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


Breakthrough Infection: अगर आप तंबाकू या मारिजुआना का बार-बार सेवन करते हैं, अगर आपको अल्कोहल या नशे की लत है, तो आपको ‘ब्रेकथ्रू’ संक्रमण (Breakthrough Infection) या पूरा टीकाकरण के बावजूद कोरोना वायरस की चपेट में आने का ज्यादा जोखिम है. ये खुलासा World Psychiatry में प्रकाशित रिसर्च से हुआ है. शोधकर्ताओं ने अमेरिका में वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके 580,000 लोगों का विश्लेषण करने के बाद नतीजा निकाला.

नशा बढ़ा सकता है कोविड-19 का ब्रेकथ्रू संक्रमण

रिसर्च में पाया गया कि ड्रग एब्यूज डिसऑर्डर (Drug Abuse Disorder) यानी नशीले पदार्थ की लत वालों को कोविड-19 वैक्सीन की दोनों डोज इस्तेमाल करने के बाद भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने का ज्यादा जोखिम होता है. ड्रग एब्यूज डिसऑर्डर को ड्रग एडिक्शन (Drug Addiction) के नाम से भी जाना जाता है जो एक तरह का विकार है यानी मारिजुआना, अल्कोहल, कोकीन, मादक पदार्थ और तंबाकू पर निर्भरता.

नशीले पदार्थ की लत वैक्सीन का असर करती है कम

शोधकर्ताओं का कहना है कि नशीले पदार्थ की लत वालों में वैक्सीन का असर मारिजुआना, अल्कोहल, कोकीन, मादक पदार्थ और तंबाकू के ज्यादा इस्तेमाल से कम हो सकता है. उन्होंने लिखा, “नशे के आदी लोगों को कोविड-19 संक्रमण और संक्रमण के बुरे नतीजों का ज्यादा जोखिम होता है. हालांकि, वैक्सीन कोविड-19 के खिलाफ बेहद प्रभावी है, लेकिन नशे के आदी लोगों में वैक्सीन का असर कमजोर इम्यून सिस्टम की वजह से कम हो सकता है.”

रिसर्च से पता चला कि नशा नहीं करनेवाले 3.6 फीसद लोग ब्रेकथ्रू संक्रमण से प्रभावित हुए जबकि इसके विपरीत नशे की लत वाले 7 फीसद लोग ब्रेकथ्रू संक्रमण की चपेट में आए. शोधकर्ताओं ने बताया कि मारिजुआना लेनेवाले लोगों को सबसे ज्यादा जोखिम था यानी 7.8 फीसद में ब्रेकथ्रू संक्रमण दिखा. दूसरे नंबर पर कोकीन का इस्तेमाल करनेवाले 7.7 फीसद लोग शामिल रहे और अल्कोहल का इस्तेमाल करनेवाले 7.2 फीसद लोगों में ब्रेकथ्रू संक्रमण हुआ.

मारिजुआना समर्थकों का कहना था कि रिसर्च में नहीं देखा गया कि ब्रेकथ्रू मामलों के पीछे मारिजुआना कारण हो सकता है. गौरतलब है कि रिसर्च के नतीजे ऐसे समय में सामने आए हैं जब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कमजोर इम्यून सिस्टम वालों को कोविड-19 वैक्सीन का तीसरा डोज इस्तेमाल करने की सिफारिश की है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के विशेषज्ञों का पैनल 11 नवंबर को आयोजित होनेवाली बैठक में बूस्टर डोज के वैश्विक डेटा की समीक्षा करने जा रहा है.

Twindemic of Covid-19 And Flu: विशेषज्ञों ने आने वाली सर्दी में ट्विंडेमिक की दी चेतावनी, जानें कोविड और फ्लू के बीच अंतर

Vaccination Strategy: आखिर क्यों कुछ देश बच्चों के लिए कर रहे हैं कोरोना वैक्सीन की सिंगल डोज की सिफारिश?

 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *