दिल्ली सरकार में भ्रष्टाचार पर श्वेत पत्र लाएगी भाजपा


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में रविवार को राजनीतिक प्रस्ताव पारित कर दिल्ली सरकार में भ्रष्टाचार पर श्वेत पत्र लाने का निर्णय किया गया। बैठक में बताया गया कि कोरोना और दिल्ली के दंगों से निपटने में केजरीवाल सरकार पूरी तरह से विफल रही है। इसका सबसे बड़ा सबूत यह है कि दोनों ही मामलों में केंद्रीय गृह मंत्रालय को हस्तक्षेप करना पड़ा। वक्ताओं ने आरोप लगाया कि 6 वर्षों में दिल्ली सरकार तो है पर प्रशासन के नाम पर कोई नहीं है।
दिल्ली सरकार की नकारात्मक नीतियों को उजागर करने की रणनीति बनाने पर विशेष चर्चा करने के साथ ही शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन व प्रदूषण की समस्या पर पार्टी का दृष्टिकोण जनता के बीच बेहतर ढंग से रखने पर जोर दिया गया। बैठक में तय किया गया कि पार्टी भविष्य में शैडो केबिनेट की तर्ज पर टीम बनाकर काम करेगी। निजी बिजली कंपनियां और जल बोर्ड सहित दिल्ली सरकार के भ्रष्टाचार की जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर संघर्ष करने का आह्वान किया गया। समापन भाषण में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं दिल्ली भाजपा के प्रभारी बैजयंत पांडा ने कहा कि कोरोना काल में भाजपा कार्यकर्ताओं ने जो सेवा भावना दिखाई है, उस पर सभी को गर्व है। बैठक में किसान आंदोलन को प्रायोजित बताते हुए कहा गया कि कृषि सुधारों से किसानों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे।
किसानों को भड़का रही है दिल्ली सरकार
दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार की नकारात्मक नीतियों के कारण कई वर्षों से दिल्ली के किसान त्रस्त हैं। दिल्ली सरकार देश के किसानों को भड़काने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के झूठे दावों और वादों की हकीकत दिल्लीवासियों के सामने लेकर आएंगे। संगठन महामंत्री सिद्धार्थन ने भविष्य की कार्ययोजना पर विस्तार से चर्चा की। सांसद मीनाक्षी लेखी ने कोरोना काल में बेहतर काम के लिए कार्यकर्ताओं की सराहना की।
बूथ स्तर तक संगठन बनाएंगे मजबूत
प्रदेश अध्यक्ष गुप्ता ने विश्वास व्यक्त किया कि नगर निगमों और विधानसभा चुनावों में सफलता हमारी मुट्ठी में होगी। अगले महीने से बूथ स्तर तक संगठन को सुदृढ़ किया जाएगा ताकि चुनाव के समय अंतिम मतदाता को मतदान करने के लिए लाने की स्थिति में रहें। उन्होंने दिल्ली सरकार द्वारा प्रदूषण और अन्य मुद्दों पर की गई 26 घोषणाओं में से एक पर भी काम नहीं किए जाने का आरोप लगाया।
जल बोर्ड में घोटाले का आरोप
बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव पेश कर राजधानी के हर क्षेत्र में बदहाली के लिए आम आदमी पार्टी की गलत नीतियों को जिम्मेदार ठहराया गया बताया गया कि केवल जल बोर्ड में ही लगभग 60000 करोड़ का घोटाला हुआ है। दिल्ली सरकार ने जल बोर्ड का बजट 7300 करोड़ रुपए सालाना होने के बाद भी 40,000 करोड़ रुपए का ऋण दिया और 11,000 करोड़ रुपए अतिरिक्त बजट भी दिया, जबकि आम आदमी पार्टी के सत्ता में आने से पहले जल बोर्ड मुनाफे में था और अब 60,000 करोड़ के घाटे में चल रहा है।

नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में रविवार को राजनीतिक प्रस्ताव पारित कर दिल्ली सरकार में भ्रष्टाचार पर श्वेत पत्र लाने का निर्णय किया गया। बैठक में बताया गया कि कोरोना और दिल्ली के दंगों से निपटने में केजरीवाल सरकार पूरी तरह से विफल रही है। इसका सबसे बड़ा सबूत यह है कि दोनों ही मामलों में केंद्रीय गृह मंत्रालय को हस्तक्षेप करना पड़ा। वक्ताओं ने आरोप लगाया कि 6 वर्षों में दिल्ली सरकार तो है पर प्रशासन के नाम पर कोई नहीं है।

दिल्ली सरकार की नकारात्मक नीतियों को उजागर करने की रणनीति बनाने पर विशेष चर्चा करने के साथ ही शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन व प्रदूषण की समस्या पर पार्टी का दृष्टिकोण जनता के बीच बेहतर ढंग से रखने पर जोर दिया गया। बैठक में तय किया गया कि पार्टी भविष्य में शैडो केबिनेट की तर्ज पर टीम बनाकर काम करेगी। निजी बिजली कंपनियां और जल बोर्ड सहित दिल्ली सरकार के भ्रष्टाचार की जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए कार्यकर्ताओं को एकजुट होकर संघर्ष करने का आह्वान किया गया। समापन भाषण में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं दिल्ली भाजपा के प्रभारी बैजयंत पांडा ने कहा कि कोरोना काल में भाजपा कार्यकर्ताओं ने जो सेवा भावना दिखाई है, उस पर सभी को गर्व है। बैठक में किसान आंदोलन को प्रायोजित बताते हुए कहा गया कि कृषि सुधारों से किसानों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे।

किसानों को भड़का रही है दिल्ली सरकार

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार की नकारात्मक नीतियों के कारण कई वर्षों से दिल्ली के किसान त्रस्त हैं। दिल्ली सरकार देश के किसानों को भड़काने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के झूठे दावों और वादों की हकीकत दिल्लीवासियों के सामने लेकर आएंगे। संगठन महामंत्री सिद्धार्थन ने भविष्य की कार्ययोजना पर विस्तार से चर्चा की। सांसद मीनाक्षी लेखी ने कोरोना काल में बेहतर काम के लिए कार्यकर्ताओं की सराहना की।
बूथ स्तर तक संगठन बनाएंगे मजबूत
प्रदेश अध्यक्ष गुप्ता ने विश्वास व्यक्त किया कि नगर निगमों और विधानसभा चुनावों में सफलता हमारी मुट्ठी में होगी। अगले महीने से बूथ स्तर तक संगठन को सुदृढ़ किया जाएगा ताकि चुनाव के समय अंतिम मतदाता को मतदान करने के लिए लाने की स्थिति में रहें। उन्होंने दिल्ली सरकार द्वारा प्रदूषण और अन्य मुद्दों पर की गई 26 घोषणाओं में से एक पर भी काम नहीं किए जाने का आरोप लगाया।
जल बोर्ड में घोटाले का आरोप
बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव पेश कर राजधानी के हर क्षेत्र में बदहाली के लिए आम आदमी पार्टी की गलत नीतियों को जिम्मेदार ठहराया गया बताया गया कि केवल जल बोर्ड में ही लगभग 60000 करोड़ का घोटाला हुआ है। दिल्ली सरकार ने जल बोर्ड का बजट 7300 करोड़ रुपए सालाना होने के बाद भी 40,000 करोड़ रुपए का ऋण दिया और 11,000 करोड़ रुपए अतिरिक्त बजट भी दिया, जबकि आम आदमी पार्टी के सत्ता में आने से पहले जल बोर्ड मुनाफे में था और अब 60,000 करोड़ के घाटे में चल रहा है।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *