जम्मू-कश्मीर: श्रीनगर मुठभेड़ में दो आतंकियों का खात्मा, इस साल अब तक 78 दहशतगर्दों का हुआ सफाया

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू
Published by: दुष्यंत शर्मा
Updated Fri, 16 Jul 2021 08:05 AM IST

सार

आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बताया है कि मुठभेड़ में मारे गए दोनों आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे।

श्रीनगर मुठभेड़
– फोटो : अमर उजाला, फाइल फोटो

ख़बर सुनें

जम्मू-कश्मीर में शुक्रवार को सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच चल रही मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए हैं। मारे गए दोनों आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे। फिलहाल तलाशी अभियान जारी है। इस ऑपरेशन को पुलिस, सेना और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम अंजाम दे रही है।

सुरक्षा एजेंसियों को श्रीनगर के दानमार इलाके आलमदार कॉलोनी में आतंकियों के छिपे होने के इनपुट मिले थे। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया। सुरक्षाबलों ने आतंकियों को आत्मसमर्पण के लिए कहा गया। लेकिन आतंकियों ने आत्मसमर्पण नहीं किया और सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। जिसमें दो आतंकी मारे गए। आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बताया है कि दोनों स्थानीय आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे। फिलहाल इलाके में तलाशी अभियान चल रहा है। इस महीने में श्रीनगर में यह दूसरा एनकाउंटर है।

आईजीपी विजय कुमार के मुताबिक इस साल अब तक कश्मीर घाटी में 78 आतंकियों का खात्मा किया जा चुका है। मारे गए कुल आतंकियों में 39 दहशतगर्द लश्कर-ए-तैयबा के थे। अन्य आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन, अल-बदर, जैश-ए-मोहम्मद और अंसार-गजवातुल-हिंद से जुड़े थे।

आपको बता दें कि इन दिनों घाटी में आतंकी लगातार सेना का निशाना बन रहे हैं। कल ही दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ में तीन दहशतगर्दों को ढेर किया गया था।

आईजीपी कश्मीर ने गुरुवार को बताया कि मारे गए आतंकियों में से एक लश्कर-ए-तैयबा का पाकिस्तानी कमांडर एजाज उर्फ अबू हुरैरा था। इसके साथ ही दो स्थानीय आतंकियों को भी मार गिराया। मारे गए आतंकियों के पास से दो एके-47 राइफल और एक पिस्टल बरामद हई थी। यह ऑपरेशन करीब आठ घंटे चला। ये कुख्यात आतंकवादी कई राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल थे।

रेल सेवा शुरू किए जाने की पूर्व संध्या पर बड़ी आतंकी साजिश नाकाम
जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले के काजीगुंड मीरबाजार इलाके में दमजान रेलवे ट्रैक के पास मंगलवार की शाम आतंकियों की ओर से प्लांट आईईडी बरामद की गई। बनिहाल से बारामुला के बीच बुधवार से पूरी तरह रेल सेवा शुरू किए जाने की पूर्व संध्या पर प्लांट आईईडी की बरामदगी से बड़ी आतंकी साजिश नाकाम हो गई है। 

पुलिस ने बताया कि शाम को रेलवे ट्रैक के पास आईईडी देखी गई। इस पर तत्काल बम निरोधक दस्ते को बुलाया गया। दस्ते ने आईईडी को कब्जे में लेकर उसे निष्क्रिय किया। इस दौरान आस-पास के इलाकों में आवागमन रोक दिया गया था। सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान भी चलाया। 

विस्तार

जम्मू-कश्मीर में शुक्रवार को सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच चल रही मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए हैं। मारे गए दोनों आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे। फिलहाल तलाशी अभियान जारी है। इस ऑपरेशन को पुलिस, सेना और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम अंजाम दे रही है।

सुरक्षा एजेंसियों को श्रीनगर के दानमार इलाके आलमदार कॉलोनी में आतंकियों के छिपे होने के इनपुट मिले थे। जिसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया। सुरक्षाबलों ने आतंकियों को आत्मसमर्पण के लिए कहा गया। लेकिन आतंकियों ने आत्मसमर्पण नहीं किया और सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। जिसमें दो आतंकी मारे गए। आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने बताया है कि दोनों स्थानीय आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे। फिलहाल इलाके में तलाशी अभियान चल रहा है। इस महीने में श्रीनगर में यह दूसरा एनकाउंटर है।

आईजीपी विजय कुमार के मुताबिक इस साल अब तक कश्मीर घाटी में 78 आतंकियों का खात्मा किया जा चुका है। मारे गए कुल आतंकियों में 39 दहशतगर्द लश्कर-ए-तैयबा के थे। अन्य आतंकी हिजबुल मुजाहिदीन, अल-बदर, जैश-ए-मोहम्मद और अंसार-गजवातुल-हिंद से जुड़े थे।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *