जम्मू-कश्मीर: वजीर के हत्यारोपी हरमीत और हरप्रीत की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू
Published by: करिश्मा चिब
Updated Sun, 12 Sep 2021 10:30 PM IST

सार

दोनों आरोपियों के रिश्तेदारों से दिल्ली क्राइम ब्रांच कर रही पूछताछ। उनके फोन कॉल की डिटेल निकाली गई है। इस हत्याकांड में कुछ और लोगों के भी होने का पूरा शक है, जो जल्द ही पकड़े जा सकते हैं।
 

ख़बर सुनें

पूर्व एमएलसी टीएस वजीर के हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली क्राइम ब्रांच की छापेमारी जारी है। रविवार को आरोपी हरप्रीत सिंह और हरमीत सिंह के रिश्तेदारों और उनके घर पर पुलिस ने दबिश दी। क्राइम ब्रांच दिल्ली ने जम्मू-कश्मीर पुलिस से कुछ लोगों की जानकारी मांगी है। गांधीनगर पुलिस ने कई लोगों की व्यक्तिगत जानकारी दी है, ताकि इनको बुलाकर पूछताछ की जा सके। बताया गया कि हरप्रीत की बहन से उसका लगातार संपर्क था। रविवार को टीम ने उसकी बहन से भी पूछताछ की है। हालांकि इसकी कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं की जा रही।

 एसएसपी चंदन कोहली का कहना है कि इस मामले में हमारे में पास किसी तरह की कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है कि केस की जांच हो। दिल्ली पुलिस मामले की जांच कर रही है। उनको जो सहयोग चाहिए, वह दे रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि दिल्ली क्राइम ब्रांच ने कई जगहों पर दोनों संदिग्ध आरोपियों के रिश्तेेदारों से पूछताछ की है। उनके फोन कॉल की डिटेल निकाली गई है। इस हत्याकांड में कुछ और लोगों के भी होने का पूरा शक है, जो जल्द ही पकड़े जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: अब राजोरी में आतंकवाद को दोबारा जिंदा करने की साजिश, लगातार बढ़ रही आतंकी वारदातें

त्रिलोचन के परिजनों को ढांढस बंधाने पहुंचे गुलाम नबी आजाद
पूर्व मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद रविवार को टीएस वजीर के घर पहुंचे। यहां उन्होंने परिवार से मुलाकात की और ढांढस बंधाया। आजाद ने कहा कि वजीर एक बड़े नेता थे, जिनकी क्षति पूरी नहीं की जा सकती। जिन लोगों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है, वह जल्द पकड़े जाने चाहिए और उनको कड़ी सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने परिवार से काफी देर तक बात की और उनको कहा कि इस दुख की घड़ी में हर कोई उनके साथ है।

विस्तार

पूर्व एमएलसी टीएस वजीर के हत्यारोपियों की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली क्राइम ब्रांच की छापेमारी जारी है। रविवार को आरोपी हरप्रीत सिंह और हरमीत सिंह के रिश्तेदारों और उनके घर पर पुलिस ने दबिश दी। क्राइम ब्रांच दिल्ली ने जम्मू-कश्मीर पुलिस से कुछ लोगों की जानकारी मांगी है। गांधीनगर पुलिस ने कई लोगों की व्यक्तिगत जानकारी दी है, ताकि इनको बुलाकर पूछताछ की जा सके। बताया गया कि हरप्रीत की बहन से उसका लगातार संपर्क था। रविवार को टीम ने उसकी बहन से भी पूछताछ की है। हालांकि इसकी कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं की जा रही।

 एसएसपी चंदन कोहली का कहना है कि इस मामले में हमारे में पास किसी तरह की कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है कि केस की जांच हो। दिल्ली पुलिस मामले की जांच कर रही है। उनको जो सहयोग चाहिए, वह दे रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि दिल्ली क्राइम ब्रांच ने कई जगहों पर दोनों संदिग्ध आरोपियों के रिश्तेेदारों से पूछताछ की है। उनके फोन कॉल की डिटेल निकाली गई है। इस हत्याकांड में कुछ और लोगों के भी होने का पूरा शक है, जो जल्द ही पकड़े जा सकते हैं।

यह भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: अब राजोरी में आतंकवाद को दोबारा जिंदा करने की साजिश, लगातार बढ़ रही आतंकी वारदातें

त्रिलोचन के परिजनों को ढांढस बंधाने पहुंचे गुलाम नबी आजाद

पूर्व मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद रविवार को टीएस वजीर के घर पहुंचे। यहां उन्होंने परिवार से मुलाकात की और ढांढस बंधाया। आजाद ने कहा कि वजीर एक बड़े नेता थे, जिनकी क्षति पूरी नहीं की जा सकती। जिन लोगों ने इस हत्याकांड को अंजाम दिया है, वह जल्द पकड़े जाने चाहिए और उनको कड़ी सजा मिलनी चाहिए। उन्होंने परिवार से काफी देर तक बात की और उनको कहा कि इस दुख की घड़ी में हर कोई उनके साथ है।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *