जब अपना आखिरी टेस्ट मैच खेलने उतरे थे सचिन तेंदुलकर, चेतेश्वर पुजारा से कही थी ये बड़ी बात

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


Cheteshwar Pujara: पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अपने लंबे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर करियर के दौरान कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किये. जब वह क्रीज पर होते थे तो उनकी बैटिंग देखने लायक होती थी. उन्हें देखकर कई युवाओं ने क्रिकेट खेलना सीखा. आज हम आपको कुछ ऐसा बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में बेहद कम लोग जानते हैं. 

दरअसल, कुछ वक्त पहले चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि महान भारतीय बल्लेबाज के विदाई टेस्ट के दौरान मैदान पर कैसा माहौल था और उन्होंने मैदान पर उतरने के बाद उन्हें क्या सलाह दी थी. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अपना आखिरी टेस्ट मैच नवंबर 2013 में वानखेड़े स्टेडियम में खेला था. वानखेड़े स्टेडियम पूरी तरह भरा हुआ था, सभी लोग आखिरी बार सचिन तेंदुलकर को टेस्ट में बैटिंग करते हुए देखने आये थे. जब ‘लिटिल मास्टर’ आखिरी बार बल्लेबाजी करने पहुंचे तो शोर अपने चरम पर पहुंच चुका था. 

चेतेश्वर पुजारा ने बताया था, “मैं वेस्टइंडीज टीम के साथ खड़ा था. जब सचिन बल्लेबाजी करने आए. मैदान पर मौजूद दर्शक जिस तरह का शोर मचा रहे थे, वह बहुत तेज था. मैं आईपीएल और वनडे टीमों का हिस्सा रहा हूं, लेकिन क्रिकेट के मैदान पर यह सबसे तेज आवाज थी. जब वह अंदर आये, तो उन्होंने मुझे कुछ बताया और मैं सुन नहीं पाया.. कि उन्होंने क्या कहा. इसलिए, मुझे उनसे फिर से पूछना पड़ा.” 

पुजारा ने ‘व्हाट द डक’ शो के दूसरे सीजन में कहा, “उन्होंने मुझसे कहा ‘जो कुछ भी हो रहा है, हमें उस पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता नहीं है. हमें बस अपने जोन में रहना है. हम उन चीजों पर ध्यान केंद्रित करेंगे, जिन पर हमें ध्यान देना है.”उन्होंने आगे कहा, “यह बहुत मायने रखता था, क्योंकि मुझे नहीं पता था कि उस समय क्या करना है. उन्होंने जो बताया उसके बाद मैंने इस पर ध्यान देना शुरू किया कि मुझे क्या करना है. मैंने उस मैच में शतक लगाया.”

हालांकि टेस्ट को तेंदुलकर के 118 गेंदों में 74 रन के कारनामों के लिए याद किया जाएगा, पुजारा (113) और रोहित शर्मा (नाबाद 111) ने महत्वपूर्ण शतक बनाए. भारत ने पहली पारी में वेस्टइंडीज के 182 के जवाब में 495 रन बनाए. इस मैच में भारत ने शानदार जीत दर्ज की. पुजारा ने कहा, “जब मैं चौका लगाता था तो कोई ताली नहीं बजाता था. और जब मैं सिंगल लेता तो दर्शक जोर से ताली बजाते. मुझे नहीं पता था कि चौका मारना है या सिंगल लेना है.”

ये भी पढ़ें:

IND vs ENG: जानिए मैनचेस्टर टेस्ट रद्द होने के बाद अब कैसे निकलेगा सीरीज़ का रिज़ल्ट?

T20 World Cup: श्रीलंका ने किया 15 सदस्यों की टीम का एलान, इन खिलाड़ियों को मिली जगह



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *