कोरोना के खिलाफ जंग में उतरी तीनों सशस्त्र सेनाएं, आर्मी चीफ ने PM मोदी को दी तैयारियों की जानकारी

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  



<p style="text-align: justify;"><strong>नई दिल्ली</strong>: सीडीएस और वायुसेना प्रमुख से मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे से मुलाकात कर सेना द्वारा कोविड के खिलाफ जंग में राज्य सरकारों की मदद के बारे में पूरी जानकारी ली.</p>
<p style="text-align: justify;">थल सेना अध्यक्ष बुधवार को ही अपने दो दिवसीय पूर्वी लद्दाख के दौरे से दिल्ली लौटे हैं. जानकारी के मुताबिक, जनरल नरवणे ने पीएम को सेना द्वारा तैयार किए जा रहे कोविड हॉस्पिटल और मिलिट्री हॉस्पिटल में सिविलयन के इलाज के बारे में जानकारी दी.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>कई शहरों में काम कर रही भारतीय सेना&nbsp;</strong><br />सेना के मुताबिक, डीआरडीओ के राजधानी दिल्ली और गुजरात स्थित कोविड हॉस्पिटल्स में आर्म्ड फोर्सेज़ मेडिकल सर्विस (एएफएमएस) के डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ के अलावा, गुरुवार को ही सेना ने महाराष्ट्र के पुणे में ओल्ड कमांड हॉस्पिटल कॉम्पलेक्स में कोविड केयर फैसेलिटी शुरू की है. इस फैसेलिटी को सिविलियन मरीजों के लिए शुरू किया गया है काफी संख्या में यहां कोविड से ग्रस्त मरीजों का इलाज किया जा सकता है. इस फैसेलिटी में थलसेना के ही डॉक्टर्स और नर्सिंग-स्टाफ हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">सेना ने बयान जारी कर बताया कि पुणे की इस कोविड फैसेलिटी में तीन तरह से मरीजों को भर्ती किया जा रहा है. पहला है पुणे की डिस्साटर मैनेजमेंट सेल द्वारा. दूसरा है डिस्ट्रिक हेल्थ ऑफिसियल की संतुति पर, और तीसरा है पुणे कैंटोनमेंट बोर्ड के हॉस्पिटल के जरिए.</p>
<p style="text-align: justify;"><br /><img src="https://feeds.abplive.com/onecms/images/uploaded-images/2021/04/29/00251497c43d78f973799366aa029586_original.jpg" /></p>
<p style="text-align: justify;">इसके अलावा थलसेना ने राजस्थान के बाडमेर में भी 100 बेड की एक आईसोलेशन फैसेलिटी तैयार की है. भोपाल में भी 150 बेड का एक कोविड सेंटर खड़ा किया है. मध्यप्रदेश के ही ग्वालियर और सागर में भी 40-40 बेड के दो फैसेलिटी तैयार की गई है जहां कोविड से ग्रस्त आम मरीजों का इलाज किया जा सकता है. इसके अलावा रांची के नमकुम मिलिट्री हॉस्पिटल में भी 50 बेड की एक कोविड फैसेलिटी शुरू हो चुकी है.</p>
<p style="text-align: justify;">कोरोना के खिलाफ जंग में भारतीय सेना ने राजधानी दिल्ली स्थित बेस हॉस्पिटल की क्षमता को भी 340 से बढ़ाकर 650 कर दिया गया है जिसमें 450 बेड पर ऑक्सीजन की सुविधा है. आईसीयू बेड की संख्या भी 12 से बढ़ाकर 35 कर दिया गया है. सेना ने इस बेस हॉस्पिटल को पूरी तरह से कोविड हॉस्पिटल में तब्दील कर दिया है, जबकि दूसरी बीमारियों से ग्रस्त सैनिक, पूर्व-सैनिक और परिवार के सदस्य आरएंडआर (रिर्सच एंड रेफरेल) हॉस्पिटल में इलाज करा सकता हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">सेना के मुताबिक, भारतीय सेना इस संकट की घड़ी में ऑपरेशन्ल-चुनौतियों का तो सामने करने के लिए तैयार है ही, अपने सिविलियन भाईयों और बहनों की हर संभव मदद करने के लिए तैयार भी पूरी तरह है.</p>
<p style="text-align: justify;"><br /><img src="https://feeds.abplive.com/onecms/images/uploaded-images/2021/04/29/65547d3e453de017c9320b29c6f764fb_original.jpg" /></p>
<p style="text-align: justify;">आपको बता दें कि बुधवार को ही थलसेना प्रमुख पूर्वी लद्दाख के दो दिन के दौरे से लौटे हैं. अपने दौरे के दौरान जनरल नरवणे ने एलएसी के हालत का जायजा लिया और लेह स्थित 14वीं कोर की ऑपरेशन्ल तैयारियों की समीक्षा की. क्योंकि पिछले साल कोरोना महामारी के शुरूआत में ही चीन ने एलएसी के कई इलाकों में घुसपैठ की कोशिश की थी, जिसके चलते दोनों देशों के बीच जंग के हालात बन गए थे.</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>नौसेना और वायुसेना भी जुटी लोगों की सेवा में&nbsp;</strong><br />इस बीच नौसेना ने भी कोरोना के खिलाफ जंग में कमर कस ली है. नौसेना की मुंबई स्थित पश्चिमी कमान ने मुंबई, गोवा और कारवार सहित गुजरात में स्थानीय प्रशासन की मदद के लिए जगह जगह अस्पताल खोल दिए हैं.</p>
<p style="text-align: justify;">नौसेना के प्रवक्ता, कमांडर विवेक मधवाल के मुताबिक, कमान के अंतर्गत तीनों अस्पताल&mdash;गोवा में आईएनएचएस जीवंती, कारवार में आईएनएचएस पतंजलि और मुंबई में आईएनएचएस संधनी में कोविड ऑक्सीजन बेड्स तैयार किए गए हैं, जिन्हें राज्यें सरकारें सिविलियन मरीजों के लिए इस्तेमाल कर सकती हैं.</p>
<p style="text-align: justify;"><br /><img src="https://feeds.abplive.com/onecms/images/uploaded-images/2021/04/29/8a7c7a132ca1ff5eebe9b8fbf8d8072b_original.jpg" /></p>
<p style="text-align: justify;">नौसेना के मुताबिक, नौसेना के मुंबई, गोवा और कारवार परिसरों में अप्रवासी मजदूरों के लिए खाने-पीने और रहने तक का इंतजाम किया गया है, ताकि लॉकडाउन में वे अपने पैतृक घर ना लौटें.</p>
<p style="text-align: justify;">इसके अलावा नौसेना ने गुजरात सरकार को भी किसी भी तरह की दवाई और मेडिकल उपरकरणों की आवाजाही या फिर कम्युनिटी-किचन खोलने का प्रस्ताव दिया है.</p>
<p style="text-align: justify;">गुरूवार को भी भारतीय वायुसेना विदेशों से खाली ऑक्सीजन कंटनेर एयरलिफ्ट में करने जुटी रही. वायुसेना के मुताबिक, गुरूवार को 3 कंटनेर बैकांक से, 3 ही सिंगापुर से और 06 कंटनेर दुबई से अलग-अलग सी17 ग्लोबमास्टर एयरक्राफ्ट लेकर आ रहे हैं.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>यह भी पढ़ें:</strong></p>
<p style="text-align: justify;"><a href="https://www.abplive.com/news/india/china-s-foreign-minister-promises-will-help-india-in-the-fight-with-covid-19-as-much-as-possible-1907327"><strong>चीन के विदेश मंत्री ने किया वादा, Covid-19 से लड़ाई में भारत की पूरी मदद करेंगे</strong></a></p>



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *