उत्तराखंड : 6 दिन बाद आज से खुले सभी सरकारी कार्यालय, समूह क और ख के कार्मिकों की शत प्रतिशत उपस्थिति 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, देहरादून
Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal
Updated Thu, 29 Apr 2021 10:08 AM IST

सार

समूह ग और घ के आवश्यक सेवाओं से संबंधित कर्मचारियों को छोड़कर अन्य की रोटेशन के आधार पर 50 फीसदी उपस्थिति के आधार पर ड्यूटी लगाई जाएगी।

ख़बर सुनें

प्रदेश में आज से सभी सरकारी कार्यालय खुल गए हैं। जिनमें समूह क और ख के कार्मिकों की शत प्रतिशत उपस्थिति रहेगी। जबकि समूह ग और घ के आवश्यक सेवाओं से संबंधित कर्मचारियों को छोड़कर अन्य की रोटेशन के आधार पर 50 फीसदी उपस्थिति के आधार पर ड्यूटी लगाई जाएगी।

उत्तराखंड में कोरोना: डर और तनाव की वजह से दम तोड़ रहे अधिकतकर कोरोना संक्रमित मरीज

बुधवार को शासन की ओर से पहले एक मई तक सरकारी कार्यालयों को बंद रखने का आदेश जारी किया गया, लेकिन कुछ देर बाद ही उक्त आदेश को निरस्त कर नया आदेश जारी कर दिया गया।

उत्तराखंड: 24 घंटे में रिकॉर्ड 108 मरीजों की मौत, 6054 नए संक्रमित मिले, एक्टिव केस 45 हजार पार

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए पिछले छह दिनों से समस्त सरकारी कार्यालय बंद हैं। सरकार की ओर से पहले सभी कार्यालयों को 23 से 25 अप्रैल तक बंद रखने के आदेश जारी किए गए थे। बाद में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सरकारी कार्यालय बंद रखने की अवधि को 28 अप्रैल तक बढ़ा दिया था। लेकिन शासन की ओर से अब बृहस्पतिवार से सभी कार्यालय खोले जाने का आदेश जारी किया गया है।

सचिव डॉ.पंकज कुमार पांडेय की ओर से जारी आदेश में ऐसी महिला कर्मचारी जिनके बच्चे दस साल से छोटे हैं, गर्भवती महिला कर्मचारी, 55 साल से अधिक उम्र के कर्मचारी एवं गंभीर बीमार कर्मचारियों के बारे में कहा गया है कि ऐसे कर्मचारी घर से ही काम करेंगे। अपरिहार्य स्थिति में ही इन कर्मचारियों को कार्यालय बुलाया जा सकेगा।

इसके अलावा दिव्यांग कर्मचारियों को भी कार्यालय में उपस्थिति से छूट है। हालांकि शासकीयहित में आवश्यकता पड़ने पर किसी भी कर्मचारी को कार्यालय बुलाया जा सकता है। आदेश में बैठकों के बारे में कहा गया है कि जहां तक संभव हो वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठकें की जाएं।

विस्तार

प्रदेश में आज से सभी सरकारी कार्यालय खुल गए हैं। जिनमें समूह क और ख के कार्मिकों की शत प्रतिशत उपस्थिति रहेगी। जबकि समूह ग और घ के आवश्यक सेवाओं से संबंधित कर्मचारियों को छोड़कर अन्य की रोटेशन के आधार पर 50 फीसदी उपस्थिति के आधार पर ड्यूटी लगाई जाएगी।

उत्तराखंड में कोरोना: डर और तनाव की वजह से दम तोड़ रहे अधिकतकर कोरोना संक्रमित मरीज

बुधवार को शासन की ओर से पहले एक मई तक सरकारी कार्यालयों को बंद रखने का आदेश जारी किया गया, लेकिन कुछ देर बाद ही उक्त आदेश को निरस्त कर नया आदेश जारी कर दिया गया।

उत्तराखंड: 24 घंटे में रिकॉर्ड 108 मरीजों की मौत, 6054 नए संक्रमित मिले, एक्टिव केस 45 हजार पार

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए पिछले छह दिनों से समस्त सरकारी कार्यालय बंद हैं। सरकार की ओर से पहले सभी कार्यालयों को 23 से 25 अप्रैल तक बंद रखने के आदेश जारी किए गए थे। बाद में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सरकारी कार्यालय बंद रखने की अवधि को 28 अप्रैल तक बढ़ा दिया था। लेकिन शासन की ओर से अब बृहस्पतिवार से सभी कार्यालय खोले जाने का आदेश जारी किया गया है।

सचिव डॉ.पंकज कुमार पांडेय की ओर से जारी आदेश में ऐसी महिला कर्मचारी जिनके बच्चे दस साल से छोटे हैं, गर्भवती महिला कर्मचारी, 55 साल से अधिक उम्र के कर्मचारी एवं गंभीर बीमार कर्मचारियों के बारे में कहा गया है कि ऐसे कर्मचारी घर से ही काम करेंगे। अपरिहार्य स्थिति में ही इन कर्मचारियों को कार्यालय बुलाया जा सकेगा।

इसके अलावा दिव्यांग कर्मचारियों को भी कार्यालय में उपस्थिति से छूट है। हालांकि शासकीयहित में आवश्यकता पड़ने पर किसी भी कर्मचारी को कार्यालय बुलाया जा सकता है। आदेश में बैठकों के बारे में कहा गया है कि जहां तक संभव हो वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठकें की जाएं।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *