उत्तराखंड: 24 घंटे में रिकॉर्ड 122 मरीजों की मौत, 5654 नए संक्रमित मिले, एक्टिव केस 55 हजार पार

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


कोरोना वायरस की जांच
– फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर

ख़बर सुनें

उत्तराखंड में शुक्रवार को रिकॉर्ड कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के मामले सामने आए हैं। प्रदेश में पहली बार 24 घंटे के अंदर 122 मरीजों की मौत हुई है। वहीं, 5654 नए संक्रमित मिले हैं। साथ ही एक्टिव केस की संख्या भी 55 हजार पार हो गई है। आज 4215 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। प्रदेश में अब तक 1 लाख 86 हजार 772 संक्रमित मरीज आ चुके हैं, जिसमें से 1 लाख 24 हजार 565 मरीज स्वस्थ हुए हैं।

हरिद्वार: पंचायती अखाड़ा निरंजनी के कोरोना संक्रमित दो संतों का निधन, अब तक जा चुकी नौ की जान

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक शुक्रवार को 24375 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि देहरादून जिले में सबसे अधिक 1915 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। वहीं, हरिद्वार जिले में 856, नैनीताल में 999, ऊधमसिंह नगर में 397, पौड़ी में 366, टिहरी में 140, रुद्रप्रयाग में 166,  पिथौरागढ़ में 66, उत्तरकाशी में 134, अल्मोड़ा में 220, चमोली में 264, बागेश्वर में 26 और चंपावत में 105 संक्रमित मिले।

#Ladengecoronase : खुद और परिवार कोरोना के साये में, फिर भी मरीजों की सेवा में जुटे दिन-रात, तस्वीरें

वहीं, प्रदेश में अब कंटेनमेंट जोन की संख्या 237 हो गई है। प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 55886 पहुंच गई है। वहीं, अब तक 2624 मरीजों की मौत हो चुकी है।

एडीजे वरुण कुमार की कोरोना से एम्स में मौत 
अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश हल्द्वानी का एम्स में शुक्रवार को निधन हो गया। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि एडीजे वरुण कुमार (45) को कोरोना संक्रमित होने के कारण 15 अप्रैल को एम्स में भर्ती कराया गया था। गंभीर अवस्था में लाइफ सपोर्ट के साथ आईसीयू में भर्ती एडीजे वरुण कुमार ने शुक्रवार की शाम दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि इससे पूर्व वे काशीपुर में किसी प्राइवेट अस्पताल में भर्ती थे। वे वहां चार से पांच दिन भर्ती रहे। उन्हें 11 अप्रैल को कोरोना के लक्ष्ण दिखे थे। 

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के गांव खैरासैण निवासी व मुख्यालय पौड़ी के विद्या मंदिर तिमली में सेवारत कोरोना संक्रमित एक शिक्षक की मौत हो गई है। वे संक्रमित होने के बाद से विद्यालय परिसर में ही आइसोलेट थे। 27 अप्रैल को स्वास्थ्य बिगड़ने पर उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां से उन्हें मेडिकल कालेज श्रीनगर रेफर किया गया। लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही शिक्षक ने दम तोड़ दिया।

 शुगर मिल के संक्रमित सिविल इंजीनियर की मौत 
लक्सर में शुगर मिल के कोरोना संक्रमित सिविल इंजीनियर की मौत हो गई। कारखाना प्रबंधक अजय कुमार खंडेलवाल ने बताया कि मिल में हरिद्वार निवासी चंद्र चड्ढा सिविल इंजीनियर के पद पर कार्य करते थे। कई दिन पहले उनकी अचानक तबीयत खराब हुई थी। डॉक्टरों ने उनमें कोरोना की पुष्टि की थी, बृहस्पतिवार देर रात उनका निधन हो गया। उनके निधन पर शुगर मिल के अधिकारियों और कर्मचारियों ने दो मिनट की शोक सभा कर उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। 

विस्तार

उत्तराखंड में शुक्रवार को रिकॉर्ड कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के मामले सामने आए हैं। प्रदेश में पहली बार 24 घंटे के अंदर 122 मरीजों की मौत हुई है। वहीं, 5654 नए संक्रमित मिले हैं। साथ ही एक्टिव केस की संख्या भी 55 हजार पार हो गई है। आज 4215 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। प्रदेश में अब तक 1 लाख 86 हजार 772 संक्रमित मरीज आ चुके हैं, जिसमें से 1 लाख 24 हजार 565 मरीज स्वस्थ हुए हैं।

हरिद्वार: पंचायती अखाड़ा निरंजनी के कोरोना संक्रमित दो संतों का निधन, अब तक जा चुकी नौ की जान

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक शुक्रवार को 24375 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि देहरादून जिले में सबसे अधिक 1915 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। वहीं, हरिद्वार जिले में 856, नैनीताल में 999, ऊधमसिंह नगर में 397, पौड़ी में 366, टिहरी में 140, रुद्रप्रयाग में 166,  पिथौरागढ़ में 66, उत्तरकाशी में 134, अल्मोड़ा में 220, चमोली में 264, बागेश्वर में 26 और चंपावत में 105 संक्रमित मिले।

#Ladengecoronase : खुद और परिवार कोरोना के साये में, फिर भी मरीजों की सेवा में जुटे दिन-रात, तस्वीरें

वहीं, प्रदेश में अब कंटेनमेंट जोन की संख्या 237 हो गई है। प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 55886 पहुंच गई है। वहीं, अब तक 2624 मरीजों की मौत हो चुकी है।

एडीजे वरुण कुमार की कोरोना से एम्स में मौत 

अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश हल्द्वानी का एम्स में शुक्रवार को निधन हो गया। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि एडीजे वरुण कुमार (45) को कोरोना संक्रमित होने के कारण 15 अप्रैल को एम्स में भर्ती कराया गया था। गंभीर अवस्था में लाइफ सपोर्ट के साथ आईसीयू में भर्ती एडीजे वरुण कुमार ने शुक्रवार की शाम दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि इससे पूर्व वे काशीपुर में किसी प्राइवेट अस्पताल में भर्ती थे। वे वहां चार से पांच दिन भर्ती रहे। उन्हें 11 अप्रैल को कोरोना के लक्ष्ण दिखे थे। 


आगे पढ़ें

कोरोना से विद्या मंदिर तिमली के शिक्षक की मौत



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *