उत्तराखंड: सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों में स्थापित होंगे ट्रॉमा सेंटर, 24 घंटे मिलेगी आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाएं 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून
Published by: अलका त्यागी
Updated Mon, 11 Oct 2021 09:36 PM IST

सार

सोमवार को दून मेडिकल कॉलेज में स्वास्थ्य मंत्री ने विश्व ट्रामा सप्ताह का शुभारंभ कर जागरूकता के लिए ट्रामा रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत
– फोटो : फाइल फोटो

ख़बर सुनें

उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री डॉ.धन सिंह रावत ने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने के लिए सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों में ट्रामा सेंटर स्थापित किए जाएंगे। इन सेंटरों में 24 घंटे आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

सोमवार को दून मेडिकल कॉलेज में स्वास्थ्य मंत्री ने विश्व ट्रामा सप्ताह का शुभारंभ कर जागरूकता के लिए ट्रामा रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। दून मेडिकल कॉलेज और एम्स ऋषिकेश के सहयोग से पूरे प्रदेश में ट्रामा रथ के जरिये जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक मेडिकल कॉलेज में ट्रॉमा सेंटर स्थापित किए जाएंगे। जिसमें दून, श्रीनगर व हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में ट्रॉमा सेंटर बनकर तैयार हो गए हैं।

सुविधा: एम्स ऋषिकेश में टेस्ट ट्यूब बेबी तकनीक शुरू, संतान से वंचित माता-पिता को मिलेगा लाभ

जल्द ही तीनों मेडिकल कॉलेजों में ट्रामा सेंटर शुरू हो जाएंगे। जबकि अन्य मेडिकल कॉलेजों में ट्रॉमा सेंटर की कार्यवाही गतिमान है। उन्होंने बताया कि इन ट्रॉमा सेंटरों में 24 घंटे आपातकालीन सुविधा उपलब्ध होगी। जिसमें न्यूरो, आर्थो, एनेस्थेसिया के डॉक्टर व अन्य मेडिकल स्टॉफ उपलब्ध रहेंगे।

उन्होंने कहा कि विश्व ट्रॉमा सप्ताह के अवसर पर प्रदेश भर में ट्रॉमा के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से ट्रामा रथ को रवाना किया गया है। इस रथ के साथ 12 सदस्यीय टीम है। जिसे एम्स के चिकित्सक डॉ.मधुर उनियाल लीड कर रहे हैं। यह टीम लोगों को नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से लोगों को सड़क दुर्घटना रोकने के लिए जागरूक करेगी।

इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री ने चौरा चाकीसैंण निवासी शाखा देवी व चौथाण कांडई निवासी एक वर्षीय दीपक की कुशलक्षेम भी पूछी। दोनों मरीज दून अस्पताल के आसीयू में भर्ती हैं। उन्होंने डॉक्टरों को दोनों के उपचार के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

इस अवसर पर अपर सचिव चिकित्सा शिक्षा सी.रविशंकर, दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.आशुतोष सयाना, चिकित्सा अधीक्षक डॉ.केसी पंत, उप निदेशक एमके पंत, डॉ.अनिल जोशी, डॉ.मधुर उनियाल, महेंद्र भंडारी, अशोक उनियाल आदि विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

विस्तार

उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री डॉ.धन सिंह रावत ने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने के लिए सभी सरकारी मेडिकल कॉलेजों में ट्रामा सेंटर स्थापित किए जाएंगे। इन सेंटरों में 24 घंटे आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

सोमवार को दून मेडिकल कॉलेज में स्वास्थ्य मंत्री ने विश्व ट्रामा सप्ताह का शुभारंभ कर जागरूकता के लिए ट्रामा रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। दून मेडिकल कॉलेज और एम्स ऋषिकेश के सहयोग से पूरे प्रदेश में ट्रामा रथ के जरिये जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक मेडिकल कॉलेज में ट्रॉमा सेंटर स्थापित किए जाएंगे। जिसमें दून, श्रीनगर व हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में ट्रॉमा सेंटर बनकर तैयार हो गए हैं।

सुविधा: एम्स ऋषिकेश में टेस्ट ट्यूब बेबी तकनीक शुरू, संतान से वंचित माता-पिता को मिलेगा लाभ

जल्द ही तीनों मेडिकल कॉलेजों में ट्रामा सेंटर शुरू हो जाएंगे। जबकि अन्य मेडिकल कॉलेजों में ट्रॉमा सेंटर की कार्यवाही गतिमान है। उन्होंने बताया कि इन ट्रॉमा सेंटरों में 24 घंटे आपातकालीन सुविधा उपलब्ध होगी। जिसमें न्यूरो, आर्थो, एनेस्थेसिया के डॉक्टर व अन्य मेडिकल स्टॉफ उपलब्ध रहेंगे।

उन्होंने कहा कि विश्व ट्रॉमा सप्ताह के अवसर पर प्रदेश भर में ट्रॉमा के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से ट्रामा रथ को रवाना किया गया है। इस रथ के साथ 12 सदस्यीय टीम है। जिसे एम्स के चिकित्सक डॉ.मधुर उनियाल लीड कर रहे हैं। यह टीम लोगों को नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से लोगों को सड़क दुर्घटना रोकने के लिए जागरूक करेगी।

इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री ने चौरा चाकीसैंण निवासी शाखा देवी व चौथाण कांडई निवासी एक वर्षीय दीपक की कुशलक्षेम भी पूछी। दोनों मरीज दून अस्पताल के आसीयू में भर्ती हैं। उन्होंने डॉक्टरों को दोनों के उपचार के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

इस अवसर पर अपर सचिव चिकित्सा शिक्षा सी.रविशंकर, दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ.आशुतोष सयाना, चिकित्सा अधीक्षक डॉ.केसी पंत, उप निदेशक एमके पंत, डॉ.अनिल जोशी, डॉ.मधुर उनियाल, महेंद्र भंडारी, अशोक उनियाल आदि विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *