उत्तराखंड: देहरादून-काठगोदाम समेत रेलवे ने कई एक्सप्रेस ट्रेनें कीं निरस्त, यहां देखें पूरी लिस्ट…

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हल्द्वानी
Published by: अलका त्यागी
Updated Thu, 29 Apr 2021 10:37 PM IST

ख़बर सुनें

रेलवे ने पर्याप्त यात्री संख्या न होने के कारण कई ट्रेनों को निरस्त कर दिया है। पूर्वोत्तर रेलवे इज्जतनगर मंडल विज्ञप्ति के अनुसार लखनऊ जंक्शन-काठगोदाम विशेष गाड़ी (05043) 30 अप्रैल से और काठगोदाम-लखनऊ जंक्शन विशेष गाड़ी(05044) एक मई से अगली सूचना तक निरस्त रहेगी। 

देहरादून-काठगोदाम विशेष गाड़ी(02091) 30 अप्रैल और काठागोदाम-देहरादून विशेष गाड़ी (02092) 30 अप्रैल से निरस्त रहेगी। लालकुआं से चलने वाली लालकुआं-आनंद विहार टर्मिनस को निरस्त किया गया है। लालकुआं-आनंद विहार टर्मिनस विशेष गाड़ी (05059) 30 अप्रैल और आनंद विहार टर्मिनस-लालकुआं विशेष गाड़ी (05060) 30 अप्रैल से अगली सूचना तक निरस्त रहेगी।

उत्तराखंड: 24 घंटे में रिकॉर्ड 6251 नए संक्रमित मिले, 85 मरीजों की मौत, एक्टिव केस 48 हजार पार

काठगोदाम-मुरादाबाद विशेष गाड़ी (05331) 30 अप्रैल और मुरादाबाद-काठगोदाम विशेष गाड़ी (05332) 30 अप्रैल से निरस्त रहेगी। रामनगर-मुरादाबाद विशेष गाड़ी (05333) और मुरादाबाद-रामनगर विशेष गाड़ी((05334) 30 अप्रैल से निरस्त रहेगी। मुरादाबाद-काशीपुर विशेष गाड़ी (05353) 30 अप्रैल और काशीपुर-मुरादाबाद विशेष गाड़ी (05354) 30 अप्रैल से निरस्त रहेगी। पीलीभीत-टनकपुर विशेष गाड़ी (05341) 30 अप्रैल  और टनकपुर-पीलीभीत विशेष गाड़ी (05342) 30 अप्रैल से तक निरस्त रहेगी।

रेलवे अधिकारियों, कर्मचारियों को बांटे गए फेसशील्ड
रेलवे बोर्ड के निर्देश पर अधिकारियों, कर्मचारियों को मास्क और दस्ताने मुहैया कराने के बाद अब फेसशील्ड भी मुहैया कराया गया है। मुख्य वाणिज्य निरीक्षक एसके अग्रवाल ने बताया कि स्टेशन पर तैनात सभी अधिकारियों, कर्मचारियों को फेसशील्ड मुहैया करा दी गई है और सभी अधिकारियों कर्मचारियों से अनुरोध किया गया है कि वे ड्यूटी के दौरान फेसशील्ड लगाकर ही रखें ताकि खुद को संक्रमण से बचा सके।

अन्य शहनों को जाने वाली ट्रेनों में बढ़ी यात्रियों की संख्या
राजधानी समेत उत्तराखंड के विभिन्न जिलों में कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही प्रवासियों का अपने घरों के जाने का भी सिलसिला शुरू हो गया है। यही वजह है कि देहरादून-गोरखपुर राप्तीगंगा और देहरादून-हावड़ा उपासना एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। रेलवे अधिकारियों की मानें तो यूपी, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल के यात्री राप्ती गंगा और उपासना जैसी ट्रेनों से अपने घरों को जा रहे हैं। 

विस्तार

रेलवे ने पर्याप्त यात्री संख्या न होने के कारण कई ट्रेनों को निरस्त कर दिया है। पूर्वोत्तर रेलवे इज्जतनगर मंडल विज्ञप्ति के अनुसार लखनऊ जंक्शन-काठगोदाम विशेष गाड़ी (05043) 30 अप्रैल से और काठगोदाम-लखनऊ जंक्शन विशेष गाड़ी(05044) एक मई से अगली सूचना तक निरस्त रहेगी। 

देहरादून-काठगोदाम विशेष गाड़ी(02091) 30 अप्रैल और काठागोदाम-देहरादून विशेष गाड़ी (02092) 30 अप्रैल से निरस्त रहेगी। लालकुआं से चलने वाली लालकुआं-आनंद विहार टर्मिनस को निरस्त किया गया है। लालकुआं-आनंद विहार टर्मिनस विशेष गाड़ी (05059) 30 अप्रैल और आनंद विहार टर्मिनस-लालकुआं विशेष गाड़ी (05060) 30 अप्रैल से अगली सूचना तक निरस्त रहेगी।

उत्तराखंड: 24 घंटे में रिकॉर्ड 6251 नए संक्रमित मिले, 85 मरीजों की मौत, एक्टिव केस 48 हजार पार

काठगोदाम-मुरादाबाद विशेष गाड़ी (05331) 30 अप्रैल और मुरादाबाद-काठगोदाम विशेष गाड़ी (05332) 30 अप्रैल से निरस्त रहेगी। रामनगर-मुरादाबाद विशेष गाड़ी (05333) और मुरादाबाद-रामनगर विशेष गाड़ी((05334) 30 अप्रैल से निरस्त रहेगी। मुरादाबाद-काशीपुर विशेष गाड़ी (05353) 30 अप्रैल और काशीपुर-मुरादाबाद विशेष गाड़ी (05354) 30 अप्रैल से निरस्त रहेगी। पीलीभीत-टनकपुर विशेष गाड़ी (05341) 30 अप्रैल  और टनकपुर-पीलीभीत विशेष गाड़ी (05342) 30 अप्रैल से तक निरस्त रहेगी।

रेलवे अधिकारियों, कर्मचारियों को बांटे गए फेसशील्ड

रेलवे बोर्ड के निर्देश पर अधिकारियों, कर्मचारियों को मास्क और दस्ताने मुहैया कराने के बाद अब फेसशील्ड भी मुहैया कराया गया है। मुख्य वाणिज्य निरीक्षक एसके अग्रवाल ने बताया कि स्टेशन पर तैनात सभी अधिकारियों, कर्मचारियों को फेसशील्ड मुहैया करा दी गई है और सभी अधिकारियों कर्मचारियों से अनुरोध किया गया है कि वे ड्यूटी के दौरान फेसशील्ड लगाकर ही रखें ताकि खुद को संक्रमण से बचा सके।

अन्य शहनों को जाने वाली ट्रेनों में बढ़ी यात्रियों की संख्या

राजधानी समेत उत्तराखंड के विभिन्न जिलों में कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही प्रवासियों का अपने घरों के जाने का भी सिलसिला शुरू हो गया है। यही वजह है कि देहरादून-गोरखपुर राप्तीगंगा और देहरादून-हावड़ा उपासना एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में यात्रियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। रेलवे अधिकारियों की मानें तो यूपी, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल के यात्री राप्ती गंगा और उपासना जैसी ट्रेनों से अपने घरों को जा रहे हैं। 



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *