उत्तराखंड : कोरोना के साथ डेंगू का खतरा बढ़ा, सरकार ने डेंगू की रोकथाम के लिए जारी कार्य योजना

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, देहरादून
Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal
Updated Fri, 30 Apr 2021 10:17 AM IST

सार

 डेंगू की रोकथाम के लिए सचिव स्वास्थ्य अमित सिंह नेगी ने सभी जिलाधिकारियों और विभागों के लिए कार्य योजना जारी की है। जून से नवंबर तक डेंगू वायरस फैलने का ज्यादा खतरा रहता है।

प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : Pixabay/Amar Ujala

ख़बर सुनें

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के साथ डेंगू का खतरा बढ़ गया है। डेंगू की रोकथाम के लिए सचिव स्वास्थ्य अमित सिंह नेगी ने सभी जिलाधिकारियों और विभागों के लिए कार्य योजना जारी की है। जून से नवंबर तक डेंगू वायरस फैलने का ज्यादा खतरा रहता है।

स्वास्थ्य सचिव अमित सिंह नेगी ओर से जारी आदेश के अनुसार जिलाधिकारियों को निर्देश दिए गए कि डेंगू से बचाव व रोकथाम के लिए संबंधित विभागों का सहयोग लेकर नोडल अधिकारी नामित किए जाएं। डेंगू के लार्वा को समाप्त करने के लिए नगर निगम, नगर पालिका, आशा कार्यकर्ता व अन्य विभागों की टीमें बनाई जाएं।

इसके साथ डेंगू से पीड़ित मरीजों के लिए प्लेटलेट्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। डेंगू जांच केंद्रों पर एलाइजा जांच किट की व्यवस्था की जाए। सचिव ने नगर निगम व नगर पालिकाओं को निर्देश दिए कि सार्वजनिक स्थानों पर पानी इकट्ठा न होने दें। जिससे डेंगू मच्छर पनप सके। सूचना विभाग के माध्यम से डेंगू से बचाव के लिए व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए।

कांग्रेस ने की सभी क्षेत्रों और अस्पतालों में फॉगिंग और सैनिटाजेशन कराने की मांग

देहरादून महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचंद शर्मा ने विभिन्न क्षेत्रों व अस्पतालों में फॉगिंग और सैनिटाजेशन कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कोरोना के साथ ही अब डेंगू का खतरा भी बन सकता है। इसलिए तुरंत एहतियाती कदम जाना बहुत जरूरी है। इस संबंध में उन्होंने नगर आयुक्त को मांग पत्र भी सौंपा।

लालचंद शर्मा का कहना है कि राज्य में कोरोना का प्रकोप काफी बढ़ गया है। ऐसे में शहर के श्मशान घाटों, कंटेनमेंट जोन के साथ सभी वार्डों में सैनिटाइजेशन कराया जाना जरूरी है। मौजूदा हालात को देखते हुए विद्युत शवदाह का निर्माण भी जरूरी है।

लालचंद शर्मा के अनुसार गर्मियों में मच्छरों की समस्या भी हो गई है। भविष्य में डेंगू जैसी बीमारियों का खतरा भी बना हुआ है। कोरोना के प्रकोप के बीच अगर डेंगू के मामले आते हैं तो स्थिति काफी खराब हो जाएगी। इसलिए प्रत्येक वार्ड में फॉगिंग अभियान चलाया जाना अति आवश्यक है। इसके अलावा सफाई व्यवस्था के लिए भी उचित कदम उठाने चाहिए। नालों और नालियों की सफाई की जानी चाहिए। ताकि बरसात में ड्रेनेज सिस्टम की दिक्कत न हो पाए। मांग पत्र देने वालों में पूर्व विधायक राजकुमार और पार्षद मोहन गुरुंग आदि भी शामिल रहे।

विस्तार

प्रदेश में कोरोना संक्रमण के साथ डेंगू का खतरा बढ़ गया है। डेंगू की रोकथाम के लिए सचिव स्वास्थ्य अमित सिंह नेगी ने सभी जिलाधिकारियों और विभागों के लिए कार्य योजना जारी की है। जून से नवंबर तक डेंगू वायरस फैलने का ज्यादा खतरा रहता है।

स्वास्थ्य सचिव अमित सिंह नेगी ओर से जारी आदेश के अनुसार जिलाधिकारियों को निर्देश दिए गए कि डेंगू से बचाव व रोकथाम के लिए संबंधित विभागों का सहयोग लेकर नोडल अधिकारी नामित किए जाएं। डेंगू के लार्वा को समाप्त करने के लिए नगर निगम, नगर पालिका, आशा कार्यकर्ता व अन्य विभागों की टीमें बनाई जाएं।

इसके साथ डेंगू से पीड़ित मरीजों के लिए प्लेटलेट्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। डेंगू जांच केंद्रों पर एलाइजा जांच किट की व्यवस्था की जाए। सचिव ने नगर निगम व नगर पालिकाओं को निर्देश दिए कि सार्वजनिक स्थानों पर पानी इकट्ठा न होने दें। जिससे डेंगू मच्छर पनप सके। सूचना विभाग के माध्यम से डेंगू से बचाव के लिए व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए।

कांग्रेस ने की सभी क्षेत्रों और अस्पतालों में फॉगिंग और सैनिटाजेशन कराने की मांग

देहरादून महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचंद शर्मा ने विभिन्न क्षेत्रों व अस्पतालों में फॉगिंग और सैनिटाजेशन कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कोरोना के साथ ही अब डेंगू का खतरा भी बन सकता है। इसलिए तुरंत एहतियाती कदम जाना बहुत जरूरी है। इस संबंध में उन्होंने नगर आयुक्त को मांग पत्र भी सौंपा।

लालचंद शर्मा का कहना है कि राज्य में कोरोना का प्रकोप काफी बढ़ गया है। ऐसे में शहर के श्मशान घाटों, कंटेनमेंट जोन के साथ सभी वार्डों में सैनिटाइजेशन कराया जाना जरूरी है। मौजूदा हालात को देखते हुए विद्युत शवदाह का निर्माण भी जरूरी है।

लालचंद शर्मा के अनुसार गर्मियों में मच्छरों की समस्या भी हो गई है। भविष्य में डेंगू जैसी बीमारियों का खतरा भी बना हुआ है। कोरोना के प्रकोप के बीच अगर डेंगू के मामले आते हैं तो स्थिति काफी खराब हो जाएगी। इसलिए प्रत्येक वार्ड में फॉगिंग अभियान चलाया जाना अति आवश्यक है। इसके अलावा सफाई व्यवस्था के लिए भी उचित कदम उठाने चाहिए। नालों और नालियों की सफाई की जानी चाहिए। ताकि बरसात में ड्रेनेज सिस्टम की दिक्कत न हो पाए। मांग पत्र देने वालों में पूर्व विधायक राजकुमार और पार्षद मोहन गुरुंग आदि भी शामिल रहे।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *