इंदौर हाईकोर्ट की न्यायाधीश वंदना कसरेकर का कोरोना से निधन


कोरोना से जस्टिस वंदना कसरेकर का निधन हो गया.

इंदौर में कोरोना का कहर जबरदस्त हावी है. आज जस्टिस कसरेकर का भी कोरोना से निधन हो गया. 60 साल की कसरेकर को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली ले जाना था, लेकिन गिरते स्वास्थ्य की वजह से ये संभव न हो सका.

  • Last Updated:
    December 13, 2020, 9:01 PM IST

इंदौर. इंदौर हाई कोर्ट में पदस्थ जस्टिस वंदना कसरेकर का आज सुबह मेदांता अस्पताल में कोरोना से निधन हो गया. वे 60 साल की थीं.  उनके निधन से विधि जगत में शोक की लहर दौड़ गई.कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उन्हें इंदौर के मेंदाता अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्हें एयरलिफ्ट कर दिल्ली ले जाना था लेकिन हालत नाजुक होने की वजह से ऐसा नहीं हो सका.

इंदौर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष अमर सिंह राठौर ने बताया कि एक साल बाद न्यायामूर्ति वंदना कसेरकर रिटायर होने वाली थीं. वे लंबे समय से शहर के मेदांता अस्पताल में ही अपना इलाज करा रही थीं. कुछ दिनों पहले दिल्ली के अस्पताल में उन्हें एयरलिफ्ट भी किया जाना था, लेकिन हालत अधिक नाजुक होने के कारण उन्हें एयरलिफ्ट भी नहीं किया जा सका. कोविड नोडल अधिकारी अमित मालाकार ने इस बात की पुष्टि की थी कि न्यायाधीश को कोरोना था. डॉक्टर के मुताबिक, उनके निधन के पीछे मल्टीलेवल ऑर्गन्स फेल होना भी वजह है.

सीएम ने जताया दुखकसरेकर के निधन पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दुख जताया. उन्होंने ट्वीट कर कहा- मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वे दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें औऱ उनके परिजनों को इस वज्रपात को सहने की क्षमता दें. मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं.

इंदौर में कोरोना का कहर जारी

इंदौर में कोरोना कहर लगातार जारी है. कुछ दिन पहले तक हाईकोर्ट में 60 से ज्यादा कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हो गए थे. इसके बाद से यहां लगातार सावधानी बरती जा रही है, लेकिन इसके बाद भी कोरोना संक्रमण बढ़ता जा रहा है. शहर में अब तक 811 लोगों की मौत हो चुकी है. रविवार यहां 427 पॉजिटिव केस मिले हैं।





Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *