आतंक पर प्रहार: बांदीपोरा में टेरर मॉड्यूल का भंडाफोड़, आतंकियों के तीन मददगार गिरफ्तार

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू
Published by: करिश्मा चिब
Updated Thu, 15 Jul 2021 09:43 PM IST

सार

जानकारी के अनुसार गिरफ्तार किए गए तीनों आतंकी सहयोगी लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी शाकिर और ऑपरेशनल कमांडर बाबर के संपर्क में थे, ये दोनों इस समय पीओके में हैं।

आतंकियों के मददगार गिरफ्तार
– फोटो : istock

ख़बर सुनें

जम्मू-कश्मीर की बांदीपोरा पुलिस, 14 आरआर और 3 बीएन सीआरपीएफ ने  लश्कर संगठन के तीन आतंकियों के सहयोगियों को गिरफ्तार किया। जिनसे उन्होंने गोला-बारूद, नकली सिम कार्ड, नकली दस्तावेज और अन्य आपत्तिजनक सामग्री के साथ एक पिस्तौल बरामद की। गिरफ्तार व्यक्तियों में सुहैब अह मलिक, एजाज आह नजर और तौसीफ आह शेख शामिल हैं।

तीनों सहयोगी लश्कर के संगठन के लिए काम कर रहे थे और अपनी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए आतंकियों को नकली सिम कार्ड मुहैया करा रहे थे। जानकारी के अनुसार गिरफ्तार किए गए तीनों आतंकी सहयोगी लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी शाकिर और ऑपरेशनल कमांडर बाबर के संपर्क में थे, ये दोनों इस समय पीओके में हैं।

यह भी पढ़ें-  जम्मू-कश्मीर: जम्मूवासियों को मिलेगा रोपवे का तोहफा, प्रदेश में तीस साल बाद ऐसे किसी रोपवे का हुआ निर्माण

बाबर ने इलाके में पुलिस, सुरक्षा बलों और राजनीतिक पदाधिकारियों की निगरानी के लिए आतंकी मॉड्यूल को सौंपा था। बाबर ने तीनों को आने वाले दिनों में तीन एके राइफल की आपूर्ति का भी वादा किया था ताकि वे औपचारिक रूप से आतंकी रैंकों में शामिल हो सकें। उन्हें तब तक हथियार छीनने का काम सौंपा गया जब तक कि हथियारों की खेप की तस्करी और डिलीवरी नहीं हो जाती। इस संबंध में मामला दर्ज करके जांच की जा रही है।

विस्तार

जम्मू-कश्मीर की बांदीपोरा पुलिस, 14 आरआर और 3 बीएन सीआरपीएफ ने  लश्कर संगठन के तीन आतंकियों के सहयोगियों को गिरफ्तार किया। जिनसे उन्होंने गोला-बारूद, नकली सिम कार्ड, नकली दस्तावेज और अन्य आपत्तिजनक सामग्री के साथ एक पिस्तौल बरामद की। गिरफ्तार व्यक्तियों में सुहैब अह मलिक, एजाज आह नजर और तौसीफ आह शेख शामिल हैं।

तीनों सहयोगी लश्कर के संगठन के लिए काम कर रहे थे और अपनी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए आतंकियों को नकली सिम कार्ड मुहैया करा रहे थे। जानकारी के अनुसार गिरफ्तार किए गए तीनों आतंकी सहयोगी लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी शाकिर और ऑपरेशनल कमांडर बाबर के संपर्क में थे, ये दोनों इस समय पीओके में हैं।

यह भी पढ़ें-  जम्मू-कश्मीर: जम्मूवासियों को मिलेगा रोपवे का तोहफा, प्रदेश में तीस साल बाद ऐसे किसी रोपवे का हुआ निर्माण

बाबर ने इलाके में पुलिस, सुरक्षा बलों और राजनीतिक पदाधिकारियों की निगरानी के लिए आतंकी मॉड्यूल को सौंपा था। बाबर ने तीनों को आने वाले दिनों में तीन एके राइफल की आपूर्ति का भी वादा किया था ताकि वे औपचारिक रूप से आतंकी रैंकों में शामिल हो सकें। उन्हें तब तक हथियार छीनने का काम सौंपा गया जब तक कि हथियारों की खेप की तस्करी और डिलीवरी नहीं हो जाती। इस संबंध में मामला दर्ज करके जांच की जा रही है।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *