अंतरराष्ट्रीय योग दिवस: सूरज निकलने से लेकर ढलने तक चलेगा ऑनलाइन योगा सेशन, कोरोना योद्धा होंगे शामिल

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, इंदौर
Published by: दीप्ति मिश्रा
Updated Thu, 10 Jun 2021 12:22 PM IST

सार

 इंदौर में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक ऑनलाइन योगा सेशन का आयोजन किया जाएगा। इसमें कोरोना योद्धा समेत दुनिया भर से लोग हिस्सा लेंगे।

योग गुरु कृष्णा मिश्रा
– फोटो : Social Media

ख़बर सुनें

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। मध्यप्रदेश के इंदौर में इस बार 21 जून, 2021 यानी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक ऑनलाइन योगा सेशन का आयोजन किया जाएगा। इंदौर के योग गुरु कृष्णा मिश्रा के सानिध्य में आयोजित ‘ऑनलाइन योगा सेशन’ में कोरोना योद्धा समेत दुनिया भर से लोग हिस्सा लेंगे।

कोरोना महामारी के बीच लोगों में सकारात्मकता जगाने और स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए योग गुरु कृष्णा मिश्रा 7वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर ऑनलाइन योगा सेशन का आयोजन करेंगे। यह ऑनलाइन योगा सेशन विश्व के सूर्योदय से सूर्यास्त तक चलेगा। सबसे पहला सेशन चंडीगढ़ वेस्टर्न कमांड के आर्मी अधिकारियों और जवानों के साथ होगा, जिसमें 100 से अधिक चंडीगढ़ के व्हील चेयर वाले जवान भी शामिल होंगे। वहीं सेवानिवृत्त जवानों के लिए योग सेशन शाम 4.30 से 5 रखा गया है। यह सेशन  भारतीय समयानुसार रात 11 बजे समाप्त होगा।

कृष्णा मिश्रा ने बताया कि इस वर्ष एक साथ 2021 लोगों को ऑनलाइन कराने का संकल्प लिया है। इसमें देश की सीमाओं की सुरक्षा में तैनात जवान, अस्पतालों में कोरोना से मरीजों की जान बचाने में जुटे डॉक्टर समेत सभी कोरोना योद्धा, कोरोना मरीज और आम लोग शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन योगा सेशन में भारत के अलावा न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर, हांगकांग, दुबई, लंदन समेत कई देशों से लोग जुड़ेंगे। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में संयुक्त राष्ट्र की महासभा में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को मनाने का प्रस्ताव रखा था। प्रधानमंत्री मोदी के इस प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को विश्व योग दिवस के रूप में मनाने की आधिकारिक घोषणा की थी। तब से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस बार यह सातवां योग दिवस है।

इसलिए 21 जून को मनाया जाता है योग दिवस
21 जून को ही योग दिवस क्यों मनाया जाता है। इस सवाल का जवाब ज्योतिष विज्ञान में मिलता है। 21 जून का दिन उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लंबा दिन है, जिसे ग्रीष्म संक्रांति भी कह सकते हैं। भारतीय संस्कृति के दृष्टिकोण से, ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन हो जाता है। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार, सूर्य के दक्षिणायन का समय आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करने में बहुत लाभकारी माना जाता है। इसी कारण 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है।

विस्तार

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। मध्यप्रदेश के इंदौर में इस बार 21 जून, 2021 यानी अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त तक ऑनलाइन योगा सेशन का आयोजन किया जाएगा। इंदौर के योग गुरु कृष्णा मिश्रा के सानिध्य में आयोजित ‘ऑनलाइन योगा सेशन’ में कोरोना योद्धा समेत दुनिया भर से लोग हिस्सा लेंगे।

कोरोना महामारी के बीच लोगों में सकारात्मकता जगाने और स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए योग गुरु कृष्णा मिश्रा 7वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर ऑनलाइन योगा सेशन का आयोजन करेंगे। यह ऑनलाइन योगा सेशन विश्व के सूर्योदय से सूर्यास्त तक चलेगा। सबसे पहला सेशन चंडीगढ़ वेस्टर्न कमांड के आर्मी अधिकारियों और जवानों के साथ होगा, जिसमें 100 से अधिक चंडीगढ़ के व्हील चेयर वाले जवान भी शामिल होंगे। वहीं सेवानिवृत्त जवानों के लिए योग सेशन शाम 4.30 से 5 रखा गया है। यह सेशन  भारतीय समयानुसार रात 11 बजे समाप्त होगा।

कृष्णा मिश्रा ने बताया कि इस वर्ष एक साथ 2021 लोगों को ऑनलाइन कराने का संकल्प लिया है। इसमें देश की सीमाओं की सुरक्षा में तैनात जवान, अस्पतालों में कोरोना से मरीजों की जान बचाने में जुटे डॉक्टर समेत सभी कोरोना योद्धा, कोरोना मरीज और आम लोग शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन योगा सेशन में भारत के अलावा न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, सिंगापुर, हांगकांग, दुबई, लंदन समेत कई देशों से लोग जुड़ेंगे। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में संयुक्त राष्ट्र की महासभा में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को मनाने का प्रस्ताव रखा था। प्रधानमंत्री मोदी के इस प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए संयुक्त राष्ट्र ने 21 जून को विश्व योग दिवस के रूप में मनाने की आधिकारिक घोषणा की थी। तब से अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इस बार यह सातवां योग दिवस है।

इसलिए 21 जून को मनाया जाता है योग दिवस

21 जून को ही योग दिवस क्यों मनाया जाता है। इस सवाल का जवाब ज्योतिष विज्ञान में मिलता है। 21 जून का दिन उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लंबा दिन है, जिसे ग्रीष्म संक्रांति भी कह सकते हैं। भारतीय संस्कृति के दृष्टिकोण से, ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन हो जाता है। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार, सूर्य के दक्षिणायन का समय आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करने में बहुत लाभकारी माना जाता है। इसी कारण 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *