Indore: एयरपोर्ट पर सामान भूलने का न लें टेंशन, 3 महीनों बाद भी ऐसे मिल जाएगा वापस– News18 Hindi


इंदौरः अगर आप इंदौर के देवी अहिल्या बाई होलकर एयरपोर्ट पर सामान भूल गए हों तो टेंशन लेने की जरूरत नहीं. ये सामान आपको  3 महीने बाद मिल जाएगा. एयरपोर्ट अथॉरिटी कुछ समय तक यह सामान अपने पास संभाल कर रखती है और फिर इनकी नीलामी करती है.

इंदौर के देवी अहिल्या बाई होलकर एयरपोर्ट पर यात्रियों द्वारा भूले गए सामान की नीलामी हुई. इस नीलामी से एयरपोर्ट मैनेजमेंट को पूरे ढाई लाख रुपए मिले. दरअसल, हवाई सफर करने वाले यात्री अक्सर जल्दबाजी में अपना सामान एयरपोर्ट पर भूल जाते हैं. उनमें कई महत्वपूर्ण सामान के साथ ही छोटी-छोटी चीजें रहती हैं. ज्यादातर मामलों में यात्री बेल्ट, पावर बैंक, चार्जर, जैकेट और किताबें भूल जाते हैं.

यात्रियों में जागरूरता होना जरूरी
बता दें, यात्री तीन महीने के अंदर देश के किसी भी एयरपोर्ट से अपना भूला हुआ सामान ले सकते हैं. इसके लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने खोया-पाया काउंटर बना रखा है. इस काउंटर को ऑनलाइन भी एक्सेस किया जा सकता है. कोई भी यात्री अपने सामान की सूची देखकर ऑनलाइन क्लेम कर उसे वापस ले सकता है. लेकिन कई यात्री अब भी एयरपोर्ट पर जाकर अपने सामान की पड़ताल करते हैं.

3-4 महीनों तक संभाल के रखा जाता है सामान
एयरपोर्ट प्रबंधन ने बताया कि जो यात्री अपना सामान टर्मिनल पर भूल जाते हैं. उसे सीआइएसएफ या एएआई कर्मचारी टर्मिनल मैनेजर के पास जमा करा देते हैं. प्रबंधन उस सामान की जानकारी लोस्ट एंड फाउंड सेक्शन पर ऑनलाइन अपडेट करते हैं. यहां पिछले तीन से चार महीनों के खोए हुए सामान की लिस्ट आपको दिख जाएगी.

ऐसे वापस ले सकते हैं सामान
यात्री एयरपोर्ट प्रबंधन की आधिकारिक वेबसाइट www.aai.aero पर क्लिक कर लोस्ट एंड फाउंड सेक्शन पर क्लिक करें. यहां तीन-चार महीनों से खोए सामान की लिस्ट देख यात्री अपना सामान पहचानें और उसे ऑनलाइन माध्यम से ही क्लेम भी करें.

ये डॉक्यूमेंट्स पास होना जरूरी

सामान वापसी क्लेम करने के बाद आपके पास यात्रा के बोर्डिंग पास की फोटोकॉपी और आईडी कार्ड होना जरूरी हैं. यात्री को खोए हुए सामान की जानकारी भी देना होगी. अगर यात्री शहर से बाहर हैं तो वे अपनी ओर से किसी अन्य व्यक्ति को भेजकर भी सामान वापस ले सकते हैं. आपको बस उस व्यक्ति के साथ बोर्डिंग पास की फोटोकॉपी, आईडी और एक अथॉराइज्ड लेटर भिजवाना होगा.





Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *