B’Day: क्रिकेट की दुनिया में की थी धांसू एंट्री, अब जाने जाते हैं मैच फिक्सिंग, लव लाइफ और राजनीति के कारण 


डिजिटल डेस्क ( भोपाल)। 1963 को हैदराबाद में जन्में भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन (Mohammad Azharuddin) का आज (8 फरवरी) 58वां बर्थ-डे है। मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 21 साल की उम्र में 31 दिसंबर 1984 को अपना पहला टेस्ट मैच कोलकाता में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। मोहम्मद अजहरुद्दीन अपने पहले तीन टेस्ट मैचों में लगातार तीन शतक लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज हैं। करियर के शुरूआती 3 टेस्ट मैच अजहर ने इंग्लैंड के खिलाफ ही खेले। अजहर भारत के इकलौते ऐसे क्रिकेटर हैं, जिन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट में शतक जमाया और अपने आखिरी टेस्ट मैच में भी शतक जमाने में सफल रहे। मोहम्मद अजहरुद्दीन के द्वारा बनाया गया यह रिकॉर्ड आज भी बरकरार है। लेकिन अजहर को अब उनकी प्रतिभा के बजाय मैच फिक्सिंग में शामिल होने के लिए याद किया जाता है। 

मोहम्मद अजहरुद्दीन का जीवन काफी उतार-चढ़ाव वाला रहा है। उन्होंने देश के लिए 99 टेस्ट मैच खेले, लेकिन इसके बाद अजहर मैच फिक्सिंग में दोषी पाए गए और बैन भी किए गए, लेकिन इन सबसे लड़कर वो भारतीय सांसद तक पहुंचे। पर्सनल लाइफ में भी कभी वह लव लाइफ की वजह से चर्चा में रहे तो कभी दो शादियां, दो तलाक और दुर्भाग्यपूर्ण हादसे में जवान बेटे की मौत हो जाने की वजह से भी।  

अपने पहले ही टेस्ट में अजहर ने कमाल की पारी खेलते हुए शानदार 110 रन ठोके थे। मोहम्मद अजहरुद्दीन ने 99 टेस्ट मैच में 6215 रन बनाए और उनका उच्चतम स्कोर 199 रन है। उन्होंने अपने टेस्ट कैरियर में 22 शतक और 21 अर्धशतक लगाए हैं। 

फिलहाल अजहर अबुधाबी में खेली जा रही टी-10 लीग में नॉर्दन वॉरियर्स के मेंटर हैं, टीवी चैनल पर उन्‍हें डगआउट में बैठे हुए और टीम की रणनीति बनाते हुए देखा जा सकता है।  



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *