पाक मॉड्यूल केस मामले में गिरफ्तार दो संदिग्धों को पुलिस ने किया रिहा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने पाक आयोजित आतंकी मॉड्यूल मामले से जुड़े हुए दो लोगों को हिरासत में लेने के बाद बुधवार को छोड़ दिया. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने इस बात की जानकारी दी. एएनआई की खबर के मुताबिक इन दोनों की पहचान मोहम्मद जलील और इम्तियाज के तौर पर हुई है. दिल्ली पुलिस ने इस दोनों लोगों को इस मामले से जुड़े तारों के संबंध में गिरफ्तार किया गया था. जिसके बाद बुधवार को उन्हें रिहा कर दिया गया. बता दें दिल्ली पुलिस की स्पेशन सेल ने मंगलवार को जान मोहम्मद शेख उर्फ ‘समीर’, ओसामा, मूलचंद, जीशान कमर, मोहम्मद अबु बकर और मोहम्मद आमिर जावेद को छापेमारी के बाद गिरफ्तार किया था.

दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने मंगलवार को पाकिस्तान समर्थित आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया और पाकिस्तान में आईएसआई द्वारा प्रशिक्षित दो आतंकवादियों सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने बताया कि ये आतंकवादी देश में आगामी त्योहारों के दौरान कई विस्फोट करने की योजना बना रहे थे.

पुलिस ने कहा कि पाकिस्तान स्थित अनीस इब्राहिम, जो दाऊद इब्राहिम का भाई है, आतंकी योजना को अंजाम देने के लिए अंडरवर्ल्ड के गुर्गों से जुड़ा था. उन्होंने कहा कि पूछताछ से पता चला है कि पाकिस्तान के आतंकी मॉड्यूल को दो घटकों अंडरवर्ल्ड और पाक-आईएसआई प्रशिक्षित आतंकी मॉड्यूल के माध्यम से संचालित किया जा रहा था.

ये भी पढ़ें- गिरफ्तार आतंकी के पिता ने दिए थे ट्रेनिंग के लिए पैसे, दुबई से जल्द भारत सौंपने की तैयारी

उन्होंने बताया कि आरोपियों की पहचान जान मोहम्मद शेख (47) उर्फ ‘समीर’, ओसामा (22), मूलचंद (47), जीशान कमर (28), मोहम्मद अबु बकर (23) और मोहम्मद आमिर जावेद (31) के तौर पर हुई है जिन्हें दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में छापेमारी के बाद गिरफ्तार किया गया.

पाकिस्तान में हुई है आतंकियों की ट्रेनिंग
पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार लोगों में ओसामा और कमर पाकिस्तान में प्रशिक्षित आतंकवादी हैं जो इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई) के निर्देश पर काम करते थे. उन्हें आईईडी लगाने के लिए दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश में उपयुक्त स्थानों की तलाश करने का काम दिया गया था.

विशेष पुलिस आयुक्त (विशेष प्रकोष्ठ) नीरज कुमार ठाकुर ने यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, ”एक बहु-राज्य अभियान में, हमने पाकिस्तान से प्रशिक्षित दो आतंकवादियों सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया है. उनमें से दो, ओसामा और कमर इसी साल प्रशिक्षण के लिये पाकिस्तान गए थे, जिसके बाद वे भारत लौट आए थे.

पुलिस ने कहा कि उन्हें केंद्रीय एजेंसियों से इनपुट मिला था कि एक पाक-प्रेरित और प्रायोजित संस्थाओं का समूह भारत में सिलसिलेवार आईईडी विस्फोटों को अंजाम देने की योजना बना रहा है.

ये भी पढ़ें- इमरान खान बोले- अफगानिस्तान में ज्यादा दिन चल नहीं पाएगी ‘कठपुतली सरकार’

अलग-अलग योजनाओं को अंजाम देने की थी तैयारी
बाद में, ओसामा को दिल्ली के ओखला से और बकर को सराय काले खां से पकड़ा गया, जबकि यूपी आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) टीम के साथ मिलकर कमर को इलाहाबाद से, जावेद को लखनऊ से और मूलचंद को रायबरेली से पकड़ा गया. पुलिस ने कहा कि गिरफ्तार लोगों को आतंक की अलग-अलग योजनाओं को अंजाम देने का काम सौंपा गया था.

दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम के नजदीकी अंडरवर्ल्ड सरगना समीर को पाकिस्तान के एक व्यक्ति ने परिष्कृत विस्फोटक उपकरण (आईईडी), अत्याधुनिक हथियार और ग्रेनेड भारत के विभिन्न लोगों को आपूर्ति करने का जिम्मा दिया गया था.

https://www.youtube.com/watch?v=ybGrJpOqxh4

पुलिस ने कहा कि पाकिस्तान में रह रहे अनीस इब्राहिम को इस मॉड्यूल का अंडरवर्ल्ड संपर्क बताया जा रहा है. (भाषा के इनपुट सहित)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *