दिल्लीः पार्किंग विवाद में फूफा ने बेटों के साथ मिलकर कर दी भतीजे की हत्या, मदद के लिए चिल्लाती रही मां


पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

पुरानी दिल्ली के हौजकाजी इलाके में पार्किंग विवाद और पुरानी रंजिश में फूफा ने अपने दो बेटों के साथ मिलकर भतीजे की हत्या कर दी। मृतक की शिनाख्त अंशु (24) के रूप में हुई। हमले के दौरान अंशु के दो भाई आशीष और विनय भी जख्मी हो गए।

दोनों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां दोनों का इलाज जारी है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी फूफा खजांची बाबू (62) और इसके दोनों बेटों मोहन कुमार (35) और अंकित(30) को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की निशानेदही पर वारदात में इस्तेमाल चाकू भी बरामद कर लिया गया है। पुलिस पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है।

पुलिस के मुताबिक अंशु परिवार के साथ रजिया बेगम गली, हौजकाजी में रहता था। इसके परिवार में मां गीता देवी (60) दो बड़े भाई आशीष और विनय हैं। कुछ समय पूर्व अंशु के पिता शांति लाल की मौत हो गई थी।

घर के सामने ही अंशु की बुआ अपने परिवार के साथ रहती है। दोनों ही परिवार का चाट-गोलगप्पों का काम है। दोनों परिवार एक-एक सप्ताह के लिए एक ही स्थान पर बारी-बारी से रेहड़ी लगाते हैं। रेहड़ी लगाने को लेकर दोनों परिवार में आपस में पुरानी रंजिश है। इसी को लेकर दोनों परिवारों के बीच तनातनी बनी रहती है।

सोमवार देर रात अंशु का बड़ा भाई आशीष अपने दोस्त की स्कूटी घर ले आया था। उसने स्कूटी को गली में खड़ा कर दिया। गली संकरी थी, इसलिए निकलने में दिक्कत होने लगी। इस बात पर अंशु के फूफा और फुफेरे भाईयों मोहन व अंकित ने आशीष को बुरा-भला कहना शुरू कर दिया।

शोर सुनकर अंशु और उसका दूसरा भाई व मां वहां पहुंचे तो बहस बढ़ गई। मारपीट होने लगी। आरोप है कि अंकित ने अंशु को दबोच लिया। इस बीच खजांची बाबू व मोहन ने चाकू से अंशु, आशीष व विनय पर हमला कर दिया। वारदात के बाद आरोपी फरार हो गए।

वारदात के समय गीता मदद के लिए चिल्लाती रही। पड़ोसियों की मदद से तीनों भाईयों को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां अंशु को मृत घोषित कर दिया गया। पुलिस ने मंगलवार को आरोपी खजांची बाबू, अंकित कुमार और मोहन को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन की जा रही है।

सार

-पुरानी दिल्ली के हौजकाजी इलाके की वारदात, गली में स्कूटी खड़ी करने को लेकर हुआ विवाद
-झगड़े के दौरान फुफेरे भाईयों ने रसोई वाले चाकू से ताबड़तोड़ वारकर की हत्या, जांच के बाद दबोचा

विस्तार

पुरानी दिल्ली के हौजकाजी इलाके में पार्किंग विवाद और पुरानी रंजिश में फूफा ने अपने दो बेटों के साथ मिलकर भतीजे की हत्या कर दी। मृतक की शिनाख्त अंशु (24) के रूप में हुई। हमले के दौरान अंशु के दो भाई आशीष और विनय भी जख्मी हो गए।

दोनों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां दोनों का इलाज जारी है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी फूफा खजांची बाबू (62) और इसके दोनों बेटों मोहन कुमार (35) और अंकित(30) को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की निशानेदही पर वारदात में इस्तेमाल चाकू भी बरामद कर लिया गया है। पुलिस पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है।

पुलिस के मुताबिक अंशु परिवार के साथ रजिया बेगम गली, हौजकाजी में रहता था। इसके परिवार में मां गीता देवी (60) दो बड़े भाई आशीष और विनय हैं। कुछ समय पूर्व अंशु के पिता शांति लाल की मौत हो गई थी।

घर के सामने ही अंशु की बुआ अपने परिवार के साथ रहती है। दोनों ही परिवार का चाट-गोलगप्पों का काम है। दोनों परिवार एक-एक सप्ताह के लिए एक ही स्थान पर बारी-बारी से रेहड़ी लगाते हैं। रेहड़ी लगाने को लेकर दोनों परिवार में आपस में पुरानी रंजिश है। इसी को लेकर दोनों परिवारों के बीच तनातनी बनी रहती है।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *