जम्मू-कश्मीर: युवाओं को कौशल प्रदान कर दूर होगी बेरोजगारी की समस्या

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू
Published by: करिश्मा चिब
Updated Tue, 14 Sep 2021 10:40 PM IST

सार

उपराज्यपाल के सलाहकार ने जेकेएसडीएम की गवर्निंग काउंसिल की बैठक की। सलाहकार ने कहा कि राष्ट्रीय शैक्षिक नीति-2020 के तहत व्यावसायिक पाठ्यक्रम और प्रशिक्षण को बहुत महत्व दिया गया है

बेरोजगारी
– फोटो : Social Media

ख़बर सुनें

विस्तार

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के सलाहकार राजीव राय भट्नागर ने मंगलवार को सिविल सचिवालय में जम्मू-कश्मीर कौशल विकास मिशन (जेकेएसडीएम) की तीसरी गवर्निंग काउंसिल की बैठक की अध्यक्षता की। इस दौरान प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) 3.0 के सहित अन्य योजनाओं के कार्यान्वयन पर विस्तृत चर्चा की।

सलाहकार ने कहा कि राष्ट्रीय शैक्षिक नीति-2020 के तहत व्यावसायिक पाठ्यक्रम और प्रशिक्षण को बहुत महत्व दिया गया है। जम्मू-कश्मीर में बेरोजगारी की समस्या को दूर करने के लिए युवाओं को कौशल प्रदान करने की जरूरत है, जिसमें कौशल विकास विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका है।

यह भी पढ़ें – जम्मू-कश्मीर: 15 सितंबर से इन जगहों पर बिजली आपूर्ति रहेगी बाधित, जानिए कौन से क्षेत्र हैं शामिल

उन्होंने कहा कि समय की मांग है कि प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने वाले ट्रेडों और कौशल विकास के पाठ्यक्रमों को शुरू किया जाए। इस दौरान बैठक में परिषद ने पीएमकेवीवाई 3.0 के तहत 709 उम्मीदवारों के शॉर्ट टर्म ट्रेनिंग (एसटीटी) और 4000 उम्मीदवारों के लिए रिकॉग्निशन ऑफ प्रायर लर्निंग (आरपीएल) को मंजूरी दी।



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *