किसान आंदोलन का 79वां दिनः दो हिस्सों में बट रहा हैं किसान आंदोलन ! राकेश टिकैत के बयान पर किसान संयुक्त मोर्चा ने जताई नाराजगी


डिजिटल डेस्क, दिल्ली। किसान आंदोलन 79वें दिन में प्रवेश कर चुका हैं, लेकिन अब तक कोई परिणाम निकल कर सामने नहीं आया हैं। वहीं, किसान नेता राकेश टिकैत के बयानों को लेकर किसान संयुक्त मोर्चा नाराज होने लगा हैं। दरअसल, किसान नेता राकेश टिकैत ने सरकार को 2 अक्टूबर तक का अल्टीमेटम दिया हैं। वहीं टिकैत के एलान से नाराज किसान संयुक्त मोर्चा ने कहा है कि बिल वापसी तक ये आंदोलन चलेगा। 

इन बयानों को सुनकर ऐसा लग रहा हैं कि, ये आंदोलन दो हिस्सों में बट सकता हैं। फिलहाल इस पर कोई स्पष्ट बयान सामने नहीं आया हैं। बता दें कि, किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी न कहा कि, “ऐसे बयानों से हंसी आती हैं कि किस परिवेश में उन्होंने (राकेश टिकैत) ये बयान दिया हैं। ये अजीब बात हैं कि आंदोलन 2 अक्टूबर तक चलेगा, बल्कि ये तब तक चलेगा जब तक तीनों कानून वापिस नहीं होते। ये राकेश टिकैत का निजी ब्यान है न कि किसान संगठन का।”

किसान आंदोलन का इस तरह से दो भागों में बंटना, मोदी सरकार के लिए फायदेमंद साबित हो सकता हैं। किसानों में एकजुटता की वजह से आंदोलन की दिशा एक थी, लेकिन लाल किले में हुई हिंसा के बाद से किसानों के बीच फूट का सिलसिला बढ़ता जा रहा हैं। राकेश टिकैत के आंसुओं ने उन्हें पॉपुलर बना दिया हैं। जिसकी वजह से संयुक्त किसान मोर्चा के बाकी चेहरे कही नजर नहीं आ रहे। 

फिलहाल महापंचायत के मंच दो हिस्सों में बट चुके हैं। एक तरफ संयुक्त किसान मोर्चा जहां आज यूपी के मुरादाबाद में महापंचायत कर रहा हैं,तो दूसरी तरफ राकेश टिकैत हरियाणा के बहादुरगढ़ में महापंचायत को संबोधित करेंगे। इस अलग-थलग मंच की तरह आंदोलन के भी दो हिस्से में बटने की संभावना जताई जा रही है। 

 



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *