किसान आंदोलनः आज एक मुठ्ठी मिट्टी और जल लेकर उत्तराखंड से गाजीपुर पहुंचेगी नवरीत की श्रद्धांजलि यात्रा


किसान काली पट्टी बांधकर मिट्टी और जल लेकर गाजीपुर बार्डर के लिए हुए रवाना
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली के दौरान जान गंवाने वाले किसान नवरीत की श्रद्धांजलि यात्रा उत्तराखंड के ऊधम सिंह नगर से शनिवार को गाजीपुर बॉर्डर पहुंचेगी। इसके बाद श्रद्धांजलि सभा होगी। किसान एकता मोर्चा के सदस्य बलजिंदर सिंह मान ने दावा किया कि इसमें 10 हजार किसानों के आने की संभावना है।

उधर, गाजीपुर बॉर्डर पर उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के कई जिलों से किसान खाद्य सामग्री लेकर पहुंच रहे हैं। बॉर्डर पर लंगर सेवा में लगे सेवादारों का कहना है कि वह आंदोलनरत किसानों की सेवा जब तक करते रहेंगे तब तक सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेती। 

एक मुठ्ठी मिट्टी और जल लेकर आज गाजीपुर जाएंगे किसान

भाकियू के प्रांतीय अध्यक्ष करम सिंह पड्डा ने कहा कि एक मुठ्ठी मिट्टी और एक लोटा जल लेकर क्षेत्रभर के किसान बड़ी संख्या में गाजीपुर बॉर्डर के लिए शनिवार को सुबह नौ बजे कूच के लिए निकले हैं। उत्तराखंड और यूपी के विभिन्न स्थानों से किसान मुरादाबाद पहुंचकर एकत्र होंगे।

वहां से रैली के रूप में गाजीपुर आंदोलन में शामिल होने के लिए रवाना होंगे। बताया कि गाजीपुर बॉर्डर आंदोलन मंच पर यूपी के डिबडिबा फार्म बिलासपुर रामपुर निवासी स्व. नवरीत सिंह सहित अन्य शहीद किसानों को श्रद्धांजलि दी जाएगी।

जसपुर, काशीपुर क्षेत्र के किसान मुरादाबाद मार्ग से जबकि बाजपुर क्षेत्र के किसान दोराहा स्थित एक होटल परिसर में एकत्र होंगे। वहां से गाजीपुर के लिए रवाना होंगे। उन्होंने जिलेभर के किसानों से उनकी वार्ता हो चुकी है। इधर, भाकियू (युवा विंग) के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र सिंह राणा ने बताया कि काशीपुर से 500 से अधिक किसान दिल्ली जाएंगे। 

18 से चुकटी देवरिया में टोल वसूली का विरोध करेंगे किसान

रुद्रपुर में तराई किसान संगठन के अध्यक्ष तजिंदर सिंह विर्क ने बताया कि संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर 18 फरवरी को देशभर में दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक रेल रोको कार्यक्रम का एलान किया गया है।

इसके साथ ही उत्तराखंड के टोल भी अनिश्चितकाल के लिए खोल दिए जाएंगे। जब तक किसान आंदोलन चलेगा, टोल टैक्स वसूली नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने बताया कि किच्छा स्थित चुकटी देवरिया टोल को भी किसानों के लिए खोल दिया जाएगा। 

गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली के दौरान जान गंवाने वाले किसान नवरीत की श्रद्धांजलि यात्रा उत्तराखंड के ऊधम सिंह नगर से शनिवार को गाजीपुर बॉर्डर पहुंचेगी। इसके बाद श्रद्धांजलि सभा होगी। किसान एकता मोर्चा के सदस्य बलजिंदर सिंह मान ने दावा किया कि इसमें 10 हजार किसानों के आने की संभावना है।

उधर, गाजीपुर बॉर्डर पर उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के कई जिलों से किसान खाद्य सामग्री लेकर पहुंच रहे हैं। बॉर्डर पर लंगर सेवा में लगे सेवादारों का कहना है कि वह आंदोलनरत किसानों की सेवा जब तक करते रहेंगे तब तक सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेती। 

एक मुठ्ठी मिट्टी और जल लेकर आज गाजीपुर जाएंगे किसान

भाकियू के प्रांतीय अध्यक्ष करम सिंह पड्डा ने कहा कि एक मुठ्ठी मिट्टी और एक लोटा जल लेकर क्षेत्रभर के किसान बड़ी संख्या में गाजीपुर बॉर्डर के लिए शनिवार को सुबह नौ बजे कूच के लिए निकले हैं। उत्तराखंड और यूपी के विभिन्न स्थानों से किसान मुरादाबाद पहुंचकर एकत्र होंगे।


आगे पढ़ें

रैली के रूप में गाजीपुर आंदोलन में शामिल होने के लिए रवाना होंगे किसान



Source link

Author: riteshkucc01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *